पुलवामा. जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के नापाक मंसूबों को कुचलने के लिए भारतीय सेना आतंक के आकाओं का चुन-चुनकर सफाया कर रही है. जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद अल कायदा से जुड़े संगठन अंसार गजवत उल हिंद की कमान संभालने वाले आतंकी हामिद ललहारी (लोन) को भी अब सेना ने मौत के घाट उतार दिया है.

दरअसल, ऑपरेशन ऑलआउट के तहत सेना की रणनीति है कि आतंकी कमांडर चुने जाने या चर्चा में आते ही जल्द से जल्द टॉप आतंकियों को खत्म कर दिया जाए. इसका असर भी दिख रहा है और आतंकी संगठनों के हौसले पस्त हुए हैं. मेसेज साफ है- फन उठाने से पहले ही आतंक का सफाया.

जम्मू-कश्मीर के अवंतिपोरा में मंगलवार को हुए एनकाउंटर में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी मिली. जाकिर मूसा का वारिस हामिद ललहारी उर्फ लोन एनकाउंटर में ढेर हो गया. जून में हामिद को आतंकी संगठन अंसार गजवत उल हिंद का नया चीफ बनाया गया था. मंगलवार को हुए एनकाउंटर में तीन आतंकी मारे गए हैं. इनकी पहचान हामिद लोन, नवीद तक और जुनैद भट के रूप में हुई है. पहले पुलिस ने तीनों को जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी बताया था.

इसी साल 24 मई को पुलवामा जिले में सेना की जॉइंट टीम ने एक मुठभेड़ में जाकिर मूसा को ढेर कर दिया था. इसके बाद हामिद ललहारी नया चीफ बना था. मूसा जब घाटी में आतंकी संगठन चला रहा था तब हामिद उसका सहयोगी था. मूसा की मौत के बाद हामिद घाटी में आतंकी साजिशों को अंजाम दे रहा था.

आपको बता दें कि मूसा की शुरुआती 10 आतंकियों की टीम में हामिद भी शामिल था. बताया जा रहा है कि इस संगठन के सभी लोग मारे जा चुके हैं. एक तरह से इस संगठन का सफाया माना जा रहा है. हमीद ललहारी दक्षिण कश्मीर के एक गांव का रहने वाला है. 2017 में एक एनकाउंटर में बुरहान वानी की मौत के बाद हामिद आतंक की दुनिया में शामिल हुआ था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।