नवीन कुमारमुंबई. मैं मुख्यमंत्री बनूं, यह मेरी नहीं बल्कि मेरे कार्यकर्ताओं की इच्छा है. भाजपा की दमदार नेता और राज्य की मंत्री पंकजा मुंडे ने अपनी सफाई में यह बात कही. उन्होंने कहा कि हमने कभी मुख्यमंत्री पद के लिए दावा नहीं किया है. औरंगाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें भाजपा की परंपरा के बारे में पता है. यह सब यूं ही नहीं हो जाता.

असल में पिछले दिनों दशहरे के मौके पर बीड में पंकजा के समर्थन में एक विशाल चुनावी रैली आयोजित की गई थी जिसे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सम्बोधित किया था. उस रैली में पंकजा की तरफ से शक्ति प्रर्दशन किया गया था और उनके कार्यकर्ताओं ने शाह की मौजूदगी में खूब जमकर नारे लगा रहे थे कि हमारी मुख्यमंत्री कैसी हों, पंकजा मुंडे जैसी हों.

इस नारे से न सिर्फ शाह चकित थे बल्कि अब पार्टी के बड़े नेता भी हैरान हैं कि इसका संदेश क्या है. हालांकि, पंकजा ने पत्रकारों से कहा है कि ऐसे नारे की उन्हें उम्मीद नहीं थी. लेकिन जनभावना को रोकना आसान नहीं है. उन्होंने कहा कि उनके बारे में इस तरह की भावना पहले भी सामने आई थी लेकिन उन्होंने अपनी तरफ कभी ऐसा दावा नहीं किया है. गौरतलब है कि पंकजा महाराष्ट्र के दिग्गज नेता दिवंगत गोपीनाथ मुंडे की बेटी हैं.

पार्टी सूत्रों का कहना है कि अगर इस तरह के नारे शाह की रैली में नहीं लगते तो ऐसे नारों को तरजीह नहीं दी जाती. लेकिन शाह की उपस्थिति में ये नारे पार्टी ही नहीं बल्कि राज्य के युवा और लोकप्रिय मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के लिए भी चिंता का विषय माना जा रहा है. क्योंकि इस बार विधानसभा चुनाव के टिकट के बंटवारे में इस बात का खास ख्याल रखा गया कि जो फडणवीस की कुर्सी पर आंख लगाए बैठे हैं उनको चुनाव मैदान से ही बाहर कर दिया जाए. और मराठा नेता विनोद तावड़े के साथ एकनाथ खडसे को भी चुनाव मैदान से बाहर कर दिया गया.

पंकजा का नाम मुख्यमंत्री के रूप में 2014 में भी उभरा था. मगर पार्टी की पहली पसंद फडणवीस ही थे और वे शिवसेना को साथ लेकर पांच साल सरकार चलाने में सफल रहे. इस बार उन्हें अपने मुख्यमंत्री पद के लिए खतरा नहीं दिख रहा है जबकि इस पर शिवसेना की भी नजर है. मगर पंकजा की रैली में नारे अलग संकेत दे रहे हैं. इस बार पंकजा परली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं. यहां उनके चचेरे भाई और एनसीपी के दमदार नेता धनंजय मुंडे उन्हें टक्कर दे रहे हैं. यहां कैसा है चुनावी दंगल तो इस पर पंकजा खुद मानती हैं कि हवा तो उनके पक्ष में दिख रहा है लेकिन टक्कर जबर्दस्त होगी.  

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।