शनि राहु केतु जिस राशि को घेरे मे लेते है वो कष्ट मे आ जाते है,चाहे वो नगर हो शहर हो व्यक्ति हो वस्तु हो इन ग्रहों का जड़ चेतन जीव का सब पर प्रभाव रहता है,इन ग्रहों के प्रभाव मे आते ही  इन ग्रहों से पीड़ित व्यक्ति कोर्ट कचहरी,अस्पताल,शत्रु, रोग, कर्ज जैसी मानसिक परेशानियों से पीड़ित हो जाता है. 

वर्तमान मे शनि राहु केतु से पीड़ित राशि-

वर्तमान मे वृषभ,मिथुन कन्या,वृश्चिक, धनु राशियां राहु केतु के प्रकोप से पीड़ित है,जिसमे सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव धनु राशि वालो को मिल रहा है.

धनु-

यह राशि राहु केतु और शनि के प्रकोप से खतरनाक तरीके से पीड़ित है,केतु और राहु पारिवारिक जीवन को पीड़ित कर रहें है,वही शनि महाराज सर पर बैठकर परिवार कार्य सबको पीड़ित कर रहें है यदि अशुभ ग्रहों की दशा भी चल रही हो तो सवा सत्यानाश हो रहा होगा. 

धनु राशि मुक्त होने वाली है-

यह राशि आगामी 6 नवेंबर को  गुरु के धनु राशि मे आने से और 26 जनवरी को शनि के मकर मे आने से बहुत राहत पाएगी,पारिवारिक जीवन मे शांति आएगी, आर्थिक हालात सुधरेंगे,स्वास्थय मे भी सुधार होगा. 

वृष-

इस राशि को कर्मक्षेत्र मे रुकावट आर्थिक दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा है, इस राशि के विद्यार्थियों को भी बहुत रुकावटों का सामना करना पड़ रहा है, यह राशि जनवरी के  शनि मे मकर राशि मे आते ही शुभ परिणाम प्राप्त करेगी, काम धंधों मे उन्नति होगी. 

कन्या-

यह राशि भी शनि राहु केतु के भयंकर प्रभाव मे है, कर्म का मानसिक दबाव, मानसिक पीड़ा, साथ के लोगो का कष्ट पहुचाने से बहुत तकलीफ मे है, राहु महाराज भी कर्मक्षेत्र मे बहुत उठापटक कर रहें है, शनि की दृष्टि भी रुकावट का कारण बन रही है,नवेंबर मे गुरु के धनु राशि मे आते ही तथा जनवरी मे शनि के मकर राशि मे पहुचते ही यह राशि राहत महसूस करेगी, कार्यक्षेत्र मे रुकावट दूर होगी,आर्थिक कार्य बनेंगे. 

सम्पर्क: 9893280184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।