इस दुनिया में दो तरीके के लोग होते है जो सैर करते है, पहले वो जो मूड ठीक करने के लिए घूमना पसंद करते है और दूसरे जो जीवन में रोमांच के लिए घूमते है. अगर आपको भी रोमांच पसंद है और देश-दुनिया की सैर करना आपको अच्छा लगता है तो ये जगह आपकी बकेट लिस्ट में होनी चाहिए. बीते कुछ सालों में 'एडवेंचर ट्रैवलिंग' युवाओं में बहुत ज्यादा बढ़ा है. आज हम आपको ऐसी एक दिलचस्प जगह सिमलिपाल के बारे में बताने जा रहे हैं . 

ये जगह अडवेंचर के साथ ही प्राकृतिक सुंदरता से रूबरू कराती है. उड़ीसा के मयूरभंज में स्थित सिमलिपाल राष्ट्रीय उद्यान को वन्यजीवों और प्रकृति की बेशुमार खूबसूरती के लिए भी जाना जाता है. 

सेमल और लाल कपास के पेड़ों की वजह से इस जगह का नाम सिमलिपाल पड़ा. ये जगह अपनी प्राकृतिक सुंदरता और झरनों की वजह से काफी आकर्षक है. सिमलिपाल में हाथी, बाघ और हिरण के साथ ही पक्षियों की कई अन्य प्रजातियां पाई जाती हैं. 

सिमलिपाल जाने के लिए सितंबर से मार्च का समय बिल्कुल परफेक्ट है. अगर आप सिमलिपाल हवाई मार्ग से पहुंचना चाहते हैं तो भुवनेश्वर और कोलकाता इसके नजदीकी एयरपोर्ट हैं. वहीं रेल मार्ग से जा रहे हैं तो बारीपादा से बालासोर जाना होगा. अगर आप सड़क मार्ग से जाना चाहें तो भुवनेश्वर, कोलकाता और बालासोर से जा सकते हैं. यहां से उद्यान तक जाने के लिए कई परिवहन चलते हैं. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।