नजरिया. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत ने राजस्थान क्रिकेट संघ में अध्यक्ष पद का चुनाव जीत तो लिया है, लेकिन इसके साथ ही कांग्रेस के विभिन्न नेताओं के विवाद भी सामने आ गए हैं. वैभव ने 25 वोटों से यह चुनाव जीता, जबकि उनके प्रतिद्वंदी रामप्रकाश चौधरी को महज 6 वोट मिले. चुनाव प्रक्रिया के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता- रामेश्वर डूडी, सीपी जोशी, सचिन पायलट आदि के बयानों के कारण कांग्रेस के पर्दे के पीछे की सियासत उभर कर सामने आ गई है.

इस प्रकरण पर दैनिक भास्कर ने डूडी, जोशी और पायलट के साथ बातचीत छापी है. जहां रामेश्वर डूडी का कहना है कि- वैभव को अध्यक्ष बनाने में सरकारी मशीनरी झोंकी, जोशी खुद मोदी के करीबी, वहीं सीपी जोशी का कहना है कि सीएम का आरसीए से वास्ता नहीं, ललित मोदी के इशारे पर ड्रामा कर रहे डूडी, तो सचिन पायलट का कहना है कि पार्टी के लिए ठीक नहीं टकराव! उल्लेखनीय है कि वैभव गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता गजेन्द्र सिंह शेखावत के खिलाफ लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, किन्तु जीत नहीं पाए.

लेकिन, आरसीए के पूर्व अध्यक्ष सीपी जोशी के समर्थन से इस बार वे नई पारी शुरू करने में कामयाब रहे हैं. राजनीतिक जानकारों का मानना है कि कांग्रेस के भीतर इस विवाद का असर प्रदेश में हो रहे उपचुनाव पर हो सकता है, परन्तु इन चुनाव में हार-जीत से कुछ खास फर्क इसलिए नहीं पड़ेगा कि सीएम अशोक गहलोत ने बसपा विधायकों को कांग्रेस में शामिल करके पहले ही पर्याप्त संख्याबल हांसिल कर लिया है!

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।