नई दिल्ली. त्योहारी सीजन में रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया(RBI) ने फिर पॉलिसी रेट्स में कटौती का ऐलान किया है. इससे आपके होम लोन, कार लोन आदि पर ईएमआई और घट जाएगी. केंद्रीय बैंक ने रीपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट्स की कटौती की है. इस कटौती के बाद रीपो दर 5.40% से घटकर 5.15% पर आ गई है, जो साल 2010 के बाद सबसे कम है. केंद्रीय बैंक ने रिवर्स रीपो रेट में भी बदलाव किया है. रिवर्स रीपो रेट अब 4.90% हो गया है और बैंक रेट 5.40%.

यह लगातार पांचवी बार है जब आरबीआई ने नीतिगत दरों में बदलाव किया है. इससे पहले लगातार चार बार में आरबीआई रीपो रेट में 110 बेसिस पॉइंट्स की कटौती कर चपका है.

बैंकों को अपने दैनिक कामकाज के लिए प्राय: ऐसी बड़ी रकम की जरूरत होती है जिनकी मियाद एक दिन से ज्यादा नहीं होती. इसके लिए बैंक जो रिजर्व बैंक से रात भर के लिए (ओवरनाइट) कर्ज लेते हैं. इस कर्ज पर रिजर्व बैंक को उन्हें जो ब्याज देना पड़ता है, उसे ही रीपो रेट कहते हैं. केंद्रीय बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जीडीपी आउटलुट को भी रिवाइज कर 6.1% का अनुमान रखा है, जो पिछली समीक्षा में 6.9% खा गया गया था. वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अनुमान रिवाइज कर 7.2% कर दिया गया है.

मौद्रिक नीति कमिटी की की तीन दिनों की बैठक के बाद केंद्रीय बैंक ने आज ये घोषणाएं कीं. उम्मीद की जा रही थी कि मुद्रास्फीति को नियंत्रण में रहने और आर्थिक वृद्धि पर दबाव को देखते हुए रिजर्व बैंक रीपो दर में एक और कटौती कर सकता है. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकान्त दास पहले ही संकेत दे चुके थे कि मुद्रास्फीति के अनुकूल दायरे में रहने से नीतिगत दर में नरमी की और गुंजाइश बनती है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।