एक लंबे समय के इंतजार के बाद गूगल ने आखिरकार अपने मैप्स एप के लिए इंकॉग्निटो मोड जारी कर दिया है. गूगल ने इससे पहले यूट्यूब और वॉइस असिस्टेंट के लिएइंकॉग्निटो मोड यानी प्राइवेट मोड जारी किए हैं. ऐसे में यूजर्स को पहले के मुकाबले अधिक प्राइवेसी मिलेगी.

इंकॉग्निटो मोड के फायदे

जब भी किसी एप का इस्तेमाल इंकॉग्निटो मोड में करते हैं तो उसकी हिस्ट्री नहीं बनती है और आसानी से कोई आपको ट्रैक नहीं कर सकता. साथ ही आप जो कुछ भी सर्च करते हैं तो उसका डाटा सेल भी नहीं होता है.

इंकॉग्निटो मोड के अलावा गूगल ने वीडियो स्ट्रिमिंग एप यूट्यूब पर ऑटो डिलीट ऑप्शन भी जोड़ा है. इस फीचर के मदद से यूजर्स डाटा डिलीट होने की अवधि सेट कर पाएंगे. सेट की हुई अवधि के बाद डेटा ऑटोमैटिक डिलीट हो जाएगा.

वहीं गूगल जल्द ही वॉयस असिस्टेंट में भी डिलीट करने का फीचर पेश करने वाला है जिसके बाद आप Hey Google, delete the last thing I said to you बोलकर डाटा डिलीट कर पाएंगे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।