कैथल. मेरी तीस वर्ष की तपस्या का फल भाजपा (BJP) ने धोखा देकर दिया, षडयंंत्र के तहत मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने मेरा टिकट कटवाया. मेरे दोनों बच्चे भी भाजपा में पैदा हुए और आज खुद बच्‍चे वाले हो चुके हैं. ये शब्द भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य रणधीर गोलन (Randhir Golan) ने पूंडरी जश्र पैलेस में आयोजित हलका कार्यकर्ताओं की बैठक में पार्टी टिकट कटने के बाद भावुक होते हुए कहे. इसके साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं की सहमति से भाजपा से बगावत करते हुए निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने का भी ऐलान किया.

हजारों कार्यकर्ताओं ने भाजपा में बाहरी प्रत्याशी का विरोध करते हुए गोलन को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया. गोलन ने रोते हुए कार्यकर्ताओं के बीच में अपना दर्द प्रकट किया. उन्‍होंने कहा कि वह 30 वर्षों से बगैर कोई परवाह किए दिन-रात पार्टी के विकास के लिए अपना खून-पसीना बहाया और पार्टी को सींचा. अब जब मौका आया तो पार्टी ने पीठ में छूरा घोंपने का काम किया.

उनका मात्र इतना कसूर था कि उन्होंने कार्यकारिणी की बैठक में बिजली निगम द्वारा आए दिन डाले जाने वाले बिजली चोरी के छापों को बंद करने के लिए आवाज उठाई थी, जिसकी मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गांठ बांध ली. रणधीर गोलन ने कहा कि उनके इस बयान को सरकार के खिलाफ बोलने जैसे आरोप लगा दिए.

बीजेपी के बगावती नेता रणधीर गोलन ने कहा कि वह जनता के हितों के लिए हमेशा आवाज उठाते रहेंगे. पार्टी ने बाहरी उम्मीदवार देकर उनका ही नहीं, बल्कि हलके के पौने दो लाख वोटरों का अपमान किया है. उन्हें टिकट नहीं देनी थी तो न देते, हलके के ही किसी कार्यकर्ता को टिकट दे देते.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।