नई दिल्ली. आर्थिक सुस्ती में बूम लाने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयास व घोषणाएं कर रही हैं, लेकिन अब की बार वह टैक्स पेयर्स को दीपावली गिफ्ट देने की तैयारी में है, यह टैक्स राहत के रूप में होगी. सूत्रों की मानें तो पांच लाख से 10 लाख रुपये तक की आय पर लगने वाले 20 प्रतिशत कर को 10 प्रतिशत किए जाने की संभावना है. इसके अगली स्लैब में 10 लाख रुपये से ज्यादा कमाई वाले करदाता हैं जिनपर 30 प्रतिशत कर लगता है उसे 25 प्रतिशत करने के आसार हैं. 2 करोड़ रुपए से ज्यादा इनकम वालों पर 35 प्रतिशत टैक्स का सुझाव दिया गया.

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक केंद्र सरकार सेस और सरचार्ज हटाने के विकल्प पर भी विचार कर रही है. इसके अतिरिक्त कर में छूट के कुछ अन्य विकल्प भी सरकार खत्म कर सकती है. फैसला लेते वक्त सरकार डायरेक्ट टैक्स कोड की सिफारिशों को ध्यान में रखेगी. 19 अगस्त को डीटीसी ने सरकार को रिपोर्ट सौंपी थी. पैनल ने सुझाव दिया है कि पांच लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक की आय पर 10 फीसदी टैक्स लगाया जा सकता है, जो अभी 20 फीसदी है.

सरकार का उद्देश्य ग्रोथ को गति देना

सरकार का मकसद खपत को बढ़ावा देकर ग्रोथ को गति देना है. अधिकारी पुराने इनकम टैक्स कानूनों को आसान करने और टैक्स दरों को तर्कसंगत बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं. डायरेक्ट टैक्स कोड के लिए बने टास्क फोर्स की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए एक रिपोर्ट तैयार की गई है, जिसे 19 अगस्त को दाखिल किया गया. सरकार फैसला लेते वक्त डायरेक्ट टैक्स कोड पर टास्क फोर्स की सिफारिशों को ध्यान में रखेगी. टास्क फोर्स ने पिछले दिनों सरकार को रिपोर्ट सौंपी थी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।