सिंगापुर. सिंगापुर ने रविवार को इतिहास रच दिया. मेजबान टीम ने जिंबाब्‍वे को चार से मात दी और आईसीसी के पूर्ण सदस्‍य देश के खिलाफ पहली बार जीत दर्ज की. यह मुकाबला बारिश के कारण प्रति पारी 18 ओवर का खेला गया. सिंगापुर ने पहले बल्‍लेबाजी की और संशोधित 18 ओवर में 9 विकेट खोकर 181 रन बनाए. सिंगापुर का कोई बल्‍लेबाज अर्धशतक नहीं जमा पाया, लेकिन उसके खिलाडि़यों ने उपयोगी योगदान देकर टीम को सम्‍मानजनक स्‍कोर तक पहुंचाया.

सिंगापुर को रोहन रंगराजन (39) और सुरेंद्रन चंद्रमोहन (23) ने 62 रन की साझेदारी करके दमदार शुरुआत दिलाई. रोहन रनआउट हुए. इसके बाद टिम डेविड (41) और मनप्रीत सिंह (41) ने उल्‍लेखनीय पारियां खेलकर टीम को 181 रन के विशाल स्‍कोर तक पहुंचाया. जिंबाब्‍वे की तरफ से रेयाल बर्ल ने सबसे ज्‍यादा तीन विकेट झटके. रिचर्ड गरावा को दो जबकि नेविल मदजिवा और शॉन विलियम्‍स को एक-एक सफलता मिली.

182 रन के लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी जिंबाब्‍वे की शुरुआत ज्‍यादा अच्‍छी नहीं रही. ओपनर ब्रायन चारी (2) को अमजद महबूब ने अपना शिकार बनाया. अमजद ने अपनी ही गेंद पर चारी का कैच लपका. यहां से जिंबाब्‍वे को कप्‍तान शॉन विलियम्‍स (66) और रेगिस चकबावा (48) ने संभाला. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 41 रन जोड़ते हुए टीम को 50 रन के पार लगाया. चकबावा अपने अर्धशतक से केवल दो रन थे, जब विजयकुमार की गेंद पर वह चंद्रमोहन को कैच थमा बैठे. 

यहां से विलियम्‍स ने टिनोटेंडा मुटुमबोड्जी (32) के साथ जिंबाब्‍वे की पारी आगे बढ़ाई. दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 79 रन की साझेदारी करके मेहमान टीम को जीत के करीब पहुंचाया. मगर यहां सिंगापुर ने जोरदार वापसी की. और सिंगापुर ने इतिहास रचते हुए मुकाबला अपने नाम किया. जिंबाब्‍वे के कप्‍तान शॉन विलियम्‍स को उम्‍दा पारी खेलने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. बता दें कि सिंगापुर टी20 ट्राई सीरीज में नेपाल की टीम दो मैचों में एक जीत और एक हार के साथ अंक तालिका में शीर्ष पर बनी हुई है. जिंबाब्‍वे की टीम दूसरे जबकि मेजबान सिंगापुर तीसरे स्‍थान पर काबिज है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।