नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान मन की बात के तीसरे भाग में यूएस ओपन फाइनलिस्ट डेनिल मेदवेदेव और ग्रैंड स्लैम चैंपियन राफेल नडाल की खेल भावना की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी ने देश के युवाओं से कहा कि उन्हें रूस के टेनिस खिलाड़ी डेनिल मेदवेदेव का भाषण जरूर सुनना चाहिए, जो उन्होंने 2019 यूएस ओपन के फाइनल में राफेल नडाल के हाथों शिकस्त के बाद दिया था. पीएम मोदी ने कहा कि सभी उम्र के लोगों को मेदवेदेव के भाषण से सीखना चाहिए. नडाल-मेदवेदेव की खेल भावना की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विजेता राफेल नडाल और डेनिल मेदवेदेव की खेल भावना एक ही मैच में देखकर अच्छा लगा.

ऑल इंडिया रेडियो पर देश से बात में पीएम मोदी ने ध्यान दिलाया कि यूएस ओपन के रनर्स-अप डेनिल मेदवेदेव के भाषण की काफी तारीफ हुई और इस पर काफी विचार-विमर्श जानने को मिला. मेदवेदेव के भाषण ने दर्शाया कि वह कितने साधारण और परिपक्व खिलाड़ी हैं. मोदी ने देश के युवाओं से कहा कि उन्हें मेदवेदेव का भाषण सुनना चाहिए, जिससे सीखने को मिलेगा कि विपरीत परिस्थितियों में भी कैसे खुद को मजबूत रखते हुए किसी के चेहरे पर मुस्कान लाई जा सकती है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि हर कोई मेदवेदेव का फैन हो गया जब उसने हार के बावजूद उनकी खेल भावना देखी.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर ग्रैंड स्लैम चैंपियन राफेल नडाल की भी तारीफ की. नडाल ने मैच के बाद मेदवेदेव की खूब तारीफ की थी. स्पेनिश स्टार ने कहा था कि इस फाइनल ने कई लोगों को बहुत कुछ सिखाया. पीएम मोदी ने मन की बात में कहा, 'इस बार यूएस ओपन में जीत के जितने चर्चे थे, उतने ही रनर अप डेनिल मेदवेदेव के भाषण के भी थे. सोशल मीडिया पर काफी चल रहा था तो फिर मैंने भी वो भाषण सुना और मैच भी देखा. 23 साल के डेनिल मेदवेदेव, उनकी सादगी और परिपक्वता हर किसी को प्रभावित करने वाली थी. मैं तो जरुर प्रभावित हुआ. इस भाषण से बस थोड़ी देर पहले ही वे 19 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता और टेनिस के लीजेंड राफेल नडाल से फाइनल में हार गए थे.'

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।