नई दिल्ली. बीते दिनों सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी पर ड्रोन हमले के बाद से कच्चे तेल की सप्लाई में कमी रही. इसके बाद अब खबर आ रही है कि घरेलू तेल मार्केटिंग कंपनियां रसोई गैस की राशनिंग कर सकती हैं. संभव है कि छोटी अवधि में LPG गैस की कमी से निपटने के लिए इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड और​ हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि​मिटेड एलपीजी गैस की राशनिंग करने का फैसला ले सकती हैं. LPG गैस राशनिंग का मतलब है कि उन ग्राहकों को ही वरीयता दी जाएगी जिनके पास केवल एक ही सिलेंडर है.

लाइवमिंट ने अपनी एक रिपोर्ट में एक तेल कंपनी के सीनियर अधिकारी के हवाले से लिखा है कि मौजूदा समय में LPG की कमी नहीं है, लेकिन पिछले सप्ताह हमले के बाद सप्लाई में कमी आई है. अधिकारी ने बताया है कि सरकारी कंपनियां ग्राहकों के मांग को पूरा कर रही हैं. दो सिलेंडर रखने वालों की तुलना में एक सिलेंडर रखने वालों को अधिक वरीयता दी जाएगी. अधिकारी ने बताया कि एलपीजी की वैकल्पिक सोर्स की व्यवस्था हो गई है और इसकी पहली खेप एक सप्ताह में पहुंच जाएगी.

3 सितंबर को नवी मुंबई स्थि​त एक सरकारी तेल और गैस कंपनी में आग लगने के बाद घरेलू एलपीजी सप्लाई घट गई थी. इसके बाद सितंबर में सऊदी अरामको (Saudi Aramco) पर ड्रोन हमले के बाद कच्चे तेल और कुकिंग गैस की सप्लाई बाधित हुई. पिछले माह ही मैंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स (Mangalore Refining and Petrochemicals) में एलपीजी सप्लाई बंद रहा. सप्लाई में इस बंदी का कारण नजदीकी इलाकों में भारी बारिश के बाद लैंडस्लाइड था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।