मुंबई. मजबूत ग्लोबल रुख की वजह से कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी की आहट से शुक्रवार को नवरात्र का उत्सव आने के पहले घरेलू शेयर बाजारों में नरमी का माहौल देखा गया. शुक्रवार को बंबई शेयर बाजार का प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुक्रवार को 167.17 अंक घटकर 38,822.57 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 58.80 अंक गिरकर 11,512.40 अंक पर बंद हुआ.

दरअसल, वायदा कारोबार में मजबूत वैश्विक रुख के साथ सटोरियों के सौदे बढ़ाने से शुक्रवार को कच्चा तेल 0.48 फीसदी बढ़कर 3,993 रुपये प्रति बैरल पर पहुंच गया. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर अक्टूबर महीने में डिलीवरी वाला कच्चा तेल 19 रुपये यानी 0.48 फीसदी बढ़कर 3,993 रुपये प्रति बैरल पर पहुंच गया. इसमें 18,782 लॉट का कारोबार हुआ.

विश्लेषकों का कहना है कि प्रतिभागियों के सौदे बढ़ाने, मजबूत वैश्विक रुख और मजबूत मांग से वायदा कारोबार में कच्चे तेल के दामों में तेजी आयी. इस बीच, ब्रेंट कच्चा तेल 0.77 फीसदी बढ़कर 62.26 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वायदा कारोबार में कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी का असर घरेलू शेयर बाजारों में भी देखने को मिला.

शुक्रवार के कारोबार में बैंक निफ्टी के 12 में से 7 शेयरों में गिरावट देखने को मिली, जबकि सेंसेक्स के 30 में से 22 शेयरों में बिकवाली का मंजर रहा. वहीं, निफ्टी के 50 में से 39 शेयरों में गिरावट देखने को मिली. कारोबार में बीएसई के प्राय: सभी सूचकांकों में बिकवाली दौर देखने को मिला. वाहन क्षेत्र और औषधि क्षेत्र के सूचकांकों में करीब 1.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी. वहीं, धातु, रीयल एस्टेट के शेयर में 2.5 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की गयी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।