नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने का प्रस्‍ताव दिया है. अमित शाह के अनुसार, प्रस्‍तावित पहचान पत्र में पासपोर्ट, आधार और वोटर आईडी सभी होने चाहिए. अमित शाह ने एक कार्ड की वकालत करते हुए कहा, 2021 में होने वाली जनगणना मोबाइल एप से कराई जाएगी.

अमित शाह ने कहा, एक ऐसा सिस्‍टम होना चाहिए, जिससे अगर किसी की जान चली जाती है तो अपने आप उसकी जानकारी पॉपुलेशन डाटा में अपडेट हो जाए. गृहमंत्री ने कहा, हम एक ऐसा कार्ड चाहते हैं जो आधार, पासपोर्ट, बैंक अकाउंट, ड्राइविंग लाइसेंस और वोटर आईडी की जरूरत को पूरा करे.

अमित शाह ने कहा, देश के विकास के लिए ये बहुत महत्वपूर्ण काम है. आज जनगणना भवन के शिलान्यास का कार्यक्रम होने जाने रहा है, ग्रीन बिल्डिंग बनने जा रहा है. अमित शाह बोले, जनगणना देश के बहुत सारे लोगों को इसकी जानकारी नहीं है. इसके महत्व को सबको बताने की जरूरत है. 131 करोड़ लोगो को बारे में मालूम होना चाहिए.

गृह मंत्री ने यह भी कहा कि देश के भविष्य के आधारशिला रखने के लिए कारगर साबित होती है. जनगणना कोई नई नहीं है, पहले भी होती आ रही है. 1865 में पहली बार जनगणना कराई गई थी. इस बार 16वीं जनगणना होगी. उन्‍होंने कहा, जनगणना डिजिटल होती जा रही है. 217 भाषाएं इस देश में हैं. 2021 में जो जनगणना होगी, उसमें मोबाइल एप्प का इस्तेमाल किया जाएगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।