नई दिल्‍ली. भारतीय बॉक्सर अमित पंघाल ने एआईबीए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में इतिहास रच दिया है. वे चैंपियनशिप के 52 किग्रा वर्ग के फाइनल में पहुंच गए हैं. अमित पंघाल ने क्वार्टर फाइनल में कजाक मुक्केबाज को हराया.यह विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारतीय टीम का अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है और इससे पहले भारत ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के एक सीजन में कभी एक से अधिक ब्रॉन्ज मेडल नहीं जीता था.

अमित पंघाल र्ल्ड बॉक्सिंग के फाइनल में पहुंचने वाले देश के पहले पुरुष बॉक्सर हैं. उनके फाइनल में पहुंचने के साथ ही यह तय हो गया है कि भारतीय बॉक्सर पहली बार वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीत सकता है. जहां तक महिला बॉक्सिंग का सवाल है तो एमसी मैरीकॉम छह बार विश्व चैंपियन बन चुकी हैं.

अमित पंघाल ने शुक्रवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान के साकेन बिबासिनोव को करीबी मुकाबले में हराया. भारतीय मुक्केबाज ने यह मुकाबला 3-2 से जीता. अमित पंघाल ने इससे पहले साल 2018 में एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था.

हरियाणा के रोहतक जिले में मायना गांव के रहने वाले अमित का जन्म जन्म 16 अक्तूबर 1995 में हुआ था. अमित ने 22 साल की उम्र में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट को हराकर साल 2018 में एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था. उन्होंने उसी साल हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल भी अपने नाम किया था.

भारत ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में इससे पहले चार ब्रॉन्ज मेडल जीते थे. विजेंदर सिंह (2009), विकास कृष्णन (2011), शिवा थापा (2015) और गौरव बिधुरी (2017) ने ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।