ट्विटर जैसी सोशल मीडिया साइट पर साइबर गुंडई पर लगाम लगाने की दिशा में बड़ी कामयाबी मिली है. बिंघमटन विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक ऐसी आकलन पद्धति (एल्गोरिदम) विकसित करने का दावा किया है जिसके जरिये ट्विटर पर आक्रामक भाषा, अपशब्द और अपमानजनक व्यवहार करने वालों की प्रभावी पहचान हो सकेगी.
इसके जरिये 90 फीसदी सटीक तरीके से ऐसे अकाउंट्स की पहचान की जा सकेगी. मशीन लर्निंग पर आधारित यह तकनीक पूर्व में पेश आए अनुभवों के आधार पर काम करती है.

विश्वविद्यालय के कंप्यूटर वैज्ञानिक जेरेमी ब्लैकबर्न ने बताया कि अपमानजनक व्यवहार करने वाले ट्विटर उपयोगकर्ताओं के विश्लेषण के आधार पर इस एल्गोरिदम को विकसित किया गया है. उनमें और बाकी उपयोगकर्ताओं के फर्क को समझा गया.

ब्लैकबर्न ने बताया कि इसके लिए कुछ क्रॉलर (इंटरनेट पर मौजूद सामग्री का खुद विश्लेषण करने वाले) प्रोग्राम बनाए गए. इसी प्रोग्राम ने ट्वीट, प्रोफाइल, कौन किसे फॉलो करता है तथा उसके कंमेंट की भाषा आदि का डाटा जमा किया. इसके अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की सामान्य भाषा और भावनाओं का भी विश्लेषण किया गया. ट्विटर यूजर्स के आपसी संबंधों को भी महत्व दिया गया.

दो तरह का खराब व्यवहार

इस अध्ययन में पता चला कि ट्विटर पर खराब व्यवहार दो तरीके से हो रहा है. एक भाषाई धौंस जमाना और दूसरा आक्रामक और अपमानजनक भाषा का प्रयोग है. ऐसा व्यवहार करने वाले उपयोगकर्ताओं को नए एल्गोरिदम ने सफलता से पहचान लिया. ऐसे लोग सोशल मीडिया पर दूसरों को परेशान कर रहे थे, हिंसा या जान से मारने की धमकी दे रहे थे और नस्लीय टिप्पणियां भी की.

अध्ययन से खुद सीखा

इस एल्गोरिदम ने दो खराब व्यवहार की पहचान के लक्षण खुद तय किए. ऐसा करके यह धौंस जमाने वालों और अन्य उपयोगकर्ताओं में फर्क करने में सक्षम हुआ. ब्लैकबर्न के अनुसार यह एल्गोरिदम साइबर दुनिया में समस्या बने लोगों की पहचान कर ट्विटर और ऐसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को आगाह कर सकता है. इस आधार पर संदिग्ध लोगों के अकाउंट डिलीट किए जा सकते हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार सोशल मीडिया पर लोगों के आक्रामक व्यवहार को रोकने के लिए बहुत कम काम हुआ है. दरअसल, मानव व्यवहार को समझना मुश्किल है. खासतौर से जब इसे शब्दों और आलोचना में व्यक्त किया जाए.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।