यादें (18 सितंबर). काका हाथरसी (जन्म- 18 सितंबर 1906, हाथरस, उत्तर प्रदेश, निधन- 18 सितंबर 1995) एक ऐसा नाम है जिसने हिन्दी हास्य को एक नया अंदाज दिया, नया मंच दिया. भारत के प्रसिद्ध हिन्दी हास्य कवि जिन्होंने कवि सम्मेलनों को नई पहचान दी, को हास्य व्यंग्य कविताओं का पर्याय कहा जाता है. आज भी कई कवि काका की कविताओं की शैली अपनाकर श्रोताओं को हास्य का खजाना दे रहे हैं. उनकी रचनाएं समाज में व्याप्त कुरीतियों, भ्रष्टाचार और राजनीतिक विरोधाभास पर तीखा प्रहार करती हैं जिन्हें वे कहते तो फुलझडिय़ा थे लेकिन किसी बम से ज्यादा धमाकेदार होती थी!

उन्होंने आम आदमी की शिकायतों को, सोच को हास्य के रंग में डूबो कर ऐसे पेश किया कि आम आदमी की वाह! और भ्रष्टों की आह? निकल जाती थी... उनका असली नाम तो प्रभूलाल गर्ग था, लेकिन उन्हें नाटक आदि में भी काम करने का शौक था, एक नाटक में उन्होंने काका का ऐसा किरदार निभाया कि हमैशा के लिए सबके काका हो गए! उन्होंने सैकड़ों कवि सम्मेलनों में काव्य पाठ किया और अपने नए अंदाज की छाप छोड़ दी. उन्हें 1957 में लाल किले दिल्ली पर होने वाले कवि सम्मेलन का बुलावा आया तो उन्होंने वहां भी धूम मचा दी. उन्हें कई पुरस्कार भी मिले. सन्1966 में बृजकला केंद्र के कार्यक्रम में काका को- कला रत्न सम्मान प्रदान किया गया.

सन्1985 में उन्हें तत्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह ने- पद्मश्री, सम्मान प्रदान किया. काका कई बार विदेश में भी काव्य पाठ करने गए और वहां भी हिन्दी हास्य का जादू दिखाया. सन 1989 में काका को अमेरिका के वाल्टीमौर में- आनरेरी सिटीजन, का सम्मान प्रदान किया गया. काका हाथरसी नाम पर ही कवियों के लिये- काका हाथरसी पुरस्कार और संगीत के क्षेत्र में- काका हाथरसी संगीत सम्मान, भी शुरू किये गए.

काका हाथरसी ने अपने जीवन काल में हास्य रस को आम जन जीवन में ऐसा घोल दिया था कि उनके बगैर कोई कवि सम्मेलन सफल नहीं हो पाता था! रोते हुए आते हैं सब हंसता हुआ जो जाएगा कि तर्ज पर हंसते-हंसाते जिस तारीख को धरती पर आए उसी तारीख का विदाई भी ले ली... डॉक्टर-वैद्य बतला रहे कुदरत का क़ानून, जितना हंसता आदमी उतना बढ़ता खून उतना बढ़ता खून कि जो हास्य में कंजूसी सुंदर से चेहरे पर देखो छायी मनहूसी...

फ्लैश बैक-

18 सितंबर, 1986- मुंबई से पहली बार महिला चालकों ने जेट विमान उड़ाया.

18 सितंबर, 1997- सं.रा. अमेरिका ने- होलोग, भूमिगत परमाणु परीक्षण किया.

18 सितंबर, 1997- ओजोन परत की रक्षा के लिए 100 देशों ने सन् 2015 तक मिथाइल ब्रोमाइड का उत्पादन बन्द करने का निश्चय किया. 18 सितंबर, 1998- सं.रा. अमेरिका के ऊपर संयुक्त राष्ट्र का 1 अरब डालर बकाये की घोषणा.

18 सितंबर, 2003- ढाका-अगरतला बस सेवा शुरू. 18 सितंबर, 2006- रूसी राकेट सोयूज अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना.

18 सितंबर, 2007- कनाडा में 1960 के दशक में जीवाश्म की खोज से तहलका मचाने वाले भारतीय जियोलॉजिस्ट जीबी मिश्रा को विशेष सम्मान प्रदान किया गया.

18 सितंबर, 2008- शोभना भरतिया एचटी मीडिया की अध्यक्ष नियुक्त हुई.

18 सितंबर, 2009- सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कम्पनी एचसीएल के संस्थापक अध्यक्ष शिव नायर को ब्रिटेन के ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट बिजनेस पर्सन ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया.

18 सितंबर, 2009- भारत ने लद्दाख क्षेत्र में अपनी एक और हवाई पट्टी खोली.

जन्म दिन-

18 सितंबर, 1906- काका हाथरसी, प्रसिद्ध हास्य कवि. 18 सितंबर, 1931- श्रीकांत वर्मा, प्रसिद्ध कथाकार, गीतकार.

18 सितंबर, 1950- शबाना आजमी, प्रसिद्ध अभिनेत्री.

पुण्य तिथि-

18 सितंबर, 2002- शिवाजी सावंत, प्रसिद्ध मराठी साहित्यकार.

18 सितंबर, 1992- मुहम्मद हिदायतुल्लाह, भारत के पहले मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश, वे भारत के प्रथम कार्यवाहक राष्ट्रपति भी थे.

प्रमुख दिवस-

18 सितंबर, राष्ट्रीय हिन्दी दिवस (सप्ताह)

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।