नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र को 27 सितंबर को संबोधित करेंगे और करीब एक सप्ताह के न्यू यॉर्क प्रवास के दौरान उनका कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों का कार्यक्रम है.

संयुक्त राष्ट्र के 74वें सत्र में वैश्विक नेताओं के संबोधन कार्यक्रम की प्रारंभिक सूची में यह जानकारी दी गयी है. इसके अनुसार मोदी 27 सितंबर की सुबह एक उच्च स्तरीय सत्र को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री ने महासभा को पहली बार 2014 में संबोधित किया था. मई में आम चुनाव में शानदार जीत के बाद प्रधानमंत्री के तौर पर अपने दूसरे कार्यकाल में वह सितंबर में पहली बार संयुक्त राष्ट्र में विश्व के नेताओं को संबोधित करेंगे.

वक्ताओं की सूची के अनुसार, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 27 सितंबर को वैश्विक नेताओं को संबोधित करेंगे. खान का संबोधन मोदी के संबोधन के कुछ ही देर बाद होगा. महासभा में वक्ताओं की प्रारंभिक सूची के अनुसार करीब 112 राष्ट्राध्यक्ष, करीब 48 शासनाध्यक्ष और 30 से अधिक विदेश मंत्री महासभा को संबोधित करने के लिए न्यू यॉर्क पहुंचेंगे. आम चर्चा 24 सितंबर से आरंभ होगी और 30 सितंबर तक चलेगी.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप महासभा को 24 सितंबर को संबोधित करेंगे. उन्होंने पहली बार 2017 में महासभा को संबोधित किया था. आम चर्चा में शुरुआती दिन पारंपरिक रूप से ब्राजील के बाद अमेरिका दूसरा वक्ता होता है. मोदी की न्यू यॉर्क यात्रा के दौरान महासभा सत्र के इतर कई द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय वार्ताएं करने की भी संभावना है. इस दौरान बिल एडं मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन मोदी को सम्मानित करेगा.

मोदी को यह सम्मान दो अक्तूबर 2014 को उनके नेतृत्व में शुरू किये गये स्वच्छ भारत मिशन के लिए दिया जायेगा. मोदी 24 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में इकोनॉमिक एडं सोशल काउंसिल (ईसीओएसओसी) चैंबर में एक विशेष कार्यक्रम ‘लीडरशिप मैटर्स : रेलीवेंस ऑफ गांधी इन कंटेम्प्रेरी वर्ल्ड' की मेजबानी करेंगे. यह कार्यक्रम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर आयोजित किया जा रहा है. मोदी 25 सितंबर को आयोजित होने वाले ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस समिट में अहम वक्ता होंगे.

सूत्रों के अनुसार मोदी के संबोधन के बाद भारतीय नेता का प्रश्न उत्तर सत्र भी होगा. ब्लूमबर्ग एलपी और ब्लूमबर्ग फिलेन्थ्रॉपीज के संस्थापक माइकल ब्लूमबर्ग इसका संचालन करेंगे. संगठन ने कहा कि इस फोरम में वैश्विक कारोबारी और नेता इकट्ठा होंगे. जिसमें वैश्विक आर्थिक वृद्धि के समक्ष नयी चुनौतियों को हल करने के नवोन्मेषी और साथ मिल कर काम करने के तरीकों पर चर्चा की जायेगी. मोदी ‘गांधी पीस गार्डन' का भी शुभारंभ करेंगे. यह गार्डन राष्ट्रपिता को समर्पित है.

यह एक ऐसी परियोजना है जिसमें लोग अपने प्रियजनों की याद में पेड़ लगाते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस 23 सितंबर को जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे जिसमें पेरिस समझौते के क्रियान्वयन पर चर्चा की जायेगी.

संयुक्त राष्ट्र 24 और 25 सितंबर को टिकाऊ विकास लक्ष्य शिखर सम्मेलन की भी मेजबानी करेगा. मोदी महासभा के 74वें सत्र के इतर कई उच्च स्तरीय सम्मेलनों में भी शिरकत करेंगे. संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र के लिए न्यू यॉर्क पहुंचने से पहले मोदी के ह्यूस्टन जाने की भी संभावना है जहां वह 22 सितंबर को भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे. ह्यूस्टन में टेक्सास इंडियन फोरम ‘हाउडी मोदी' कार्यक्रम आयोजित कर रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।