मुंबई. जीडीपी की विकास दर अनुमान से भी कम होने, प्रॉडक्शन 15 महीने के निचले स्तर पर पहुंचने और कोर सेक्टर की धीमी ग्रोथ का असर देश के शेयर बाजार पर भी देखने को मिल रहा है. दोपहर 3:15 बजे के आसपास बीएसई का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 800 अंकों से ज्यादा लुढ़क गया और 36,500 रके आसपास आ गया. 151 अंकों की गिरावट के साथ खुला बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स दोपहर करीब 3 बजकर 20 मिनट पर बजे 812 अंकों का गोता लगाकर 37,000 के स्तर से काफी नीचे (36,520) आ गया, जबकि नैशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 24.40 अंक गिरकर 10,782.85 पर देखा गया. शेयर बाजार में इस गिरावट के पीछे कई घरेलू कारण हैं.

मैन्युफैक्चरिंग ऐक्टिविटी अगस्त में बिक्री घटने से 15 महीने के निचले स्तर पर पहुंचने से शेयर बाजार में निराशा है. मैन्युफैक्चरिंग घटने से पता चलता है कि खपत या निवेश में अभी तक रिकवरी नहीं हुई है. इससे पहले जून तिमाही की ग्रॉस डोमेस्टिक प्रॉडक्ट (GDP) ग्रोथ 6 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई थी. IHS मार्किट इंडिया मैन्युफैक्चरिंग PMI अगस्त में गिरकर 51.4 पर आ गया, जो जुलाई में 52.5 पर था. यह मई 2018 के बाद का निचला स्तर है.

कोर सेक्टर की ग्रोथ से आर्थिक सुस्ती का जोर बढ़ने के संकेत

जुलाई के महीने में 8 सेक्टरों वाले कोर सेक्टर का प्रॉक्शन सिर्फ 2.1 पर्सेेंट की दर से बढ़ा, जबकि इससे पहले जून में ग्रोथ 0.2% थी. कोयला, कच्चा तेल, प्रकॉतिक गैस और रिफाइनरी सेक्टर में उत्पादन में कमी आने से सेक्टर की ग्रोथ कमजोर रही. कोर सेक्टर के ग्रोथ के आंकड़ों से सुस्ती के जोर पकड़ने का संकेत मिलता है, जिसका असर शेयर बाजार पर देखने को मिल रहा है.

शुरुआती कारोबार में शेयर बाजार का हाल

शुरुआती कारोबार में प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 10.22 बजे 413.58 अंकों की गिरावट के साथ 36,919.21 पर कारोबार करते देखा गया. निफ्टी भी लगभग इसी समय 129.30 अंकों की कमजोरी के साथ 10,893.95 पर कारोबार करते देखा गया. सेंसेक्स सुबह 151.03 अंकों की गिरावट के साथ 37,181.76 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 62.3 अंकों की बढ़त के साथ 10,960.95 पर खुला था.

वाहन कंपनियों की बिक्री के आंकड़ों से निराशा

अगस्त के वाहन बिक्री के आंकड़ों से भी बाजार में निराशा है. अगस्त में मारुति सुजुकी की बिक्री में 33 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई. टाटा मोटर्स की पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री में भी 58 पर्सेंट की गिरावट दर्ज की गई. इसके अलावा, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा, बजाज ऑटो की अगस्त बिक्री भी काफी कम रही.

वित्तीय और वाहन कंपनियों के शेयर कमजोर

कमजोर घरेलू और वैश्विक रुख के बीच वित्तीय और वाहन कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली से बाजार में गिरावट आई है. कारोबारियों के मुताबिक, कमजोर वृह्द आर्थिक आंकड़ों और अगस्त में वाहन कंपनियों की बिक्री घटने से शेयर बाजार में गिरावट का रुख देखने को मिल रहा है.

कमजोर रुपया और FII आउटफ्लो का दबाव

गणेश चतुर्थी के मौके पर सोमवार को शेयर बाजार बंद था. शेयर बाजारों के पास मौजूद आरंभिक आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 1,162.95 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशक 1,502.27 करोड़ रुपये के शेयर के शुद्ध खरीदार रहे. इसके अलावा, आज शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपये के दाम में 64 पैसे की गिरावट से भी शेयर बाजार का सेंटिमेंट नेगेटिव हुआ.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।