नई दिल्ली. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार शाम कई बड़े एलान किए. उन्होंने अर्थव्यवस्था की सेहत के बारे में कई बातें बताईं. उन्होंने कहा कि विदेशी फंडों पर ज्यादा टैक्स के फैसले को वापस ले लिया गया है. इसका इंतजार पिछले कई दिनों से किया जा रहा था. इस फैसले से शेयर बाजार में गिरावट पर रोक लगने की उम्मीद है.

घरेलू निवेशकों के एलटीसीजी पर लगने वाले सरचार्ज को भी वापस ले लिया गया है. वित्तमंत्री ने स्टार्टअप से एंजेल टैक्स हटाने का भी एलान किया. उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था की हालत अब भी कई विकसित देशों के मुकाबले बेहतर है. उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर मांग की स्थिति काफी कमजोर बनी हुई है.

वित्तमंत्री ने कहा कि खपत में कमी सिर्फ भारत में नहीं देखने को मिली है, बल्कि कई दूसरे देशों में भी इसके संकेत मिले हैं. अमेरिका और जर्मनी में इनवर्टेड यील्ड से मंदी का संकेत मिलता है. हमारी सरकार उन लोगों का सम्मान करती हैं, जो संपत्ति का सृजन करते हैं. बजट तैयार करने में भी इस बात का ध्यान रखा गया. इस साल लोकसभा चुनाव में जीत के बाद भी सरकार आर्थिक सुधार के अपने एजेंडा को भूली नहीं है.

-निर्मला सीतारमण के कहा, सरकार पर आरोप लगते हैं कि हम टैक्स को लेकर लोगों को परेशान कर रहे हैं। यह पूरी तरह झूठ है। हम जीएसटी की प्रक्रिया को और सरल बनाने जा रहे हैं। टैक्स से जुड़े कानूनों में भी हम सुधार कर रहे हैं।

-उन्होंने कहा कि दुनिया के बाकी देश भी मंदी का सामना कर रहे हैं। दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर हालात में है। वित्त मंत्री ने कहा कि वैश्विक मंदी को समझने की जरूरत है। चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर की वजह से मंदी की समस्या सामने आ रही है। निर्मला सीतारमण ने कहा, ऐसा नहीं है कि मंदी की समस्या सिर्फ भारत के लिए है बल्कि दुनिया के बाकी देश भी इस समय मंदी का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुधार एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है और देश में लगातार आर्थिक सुधार हुए हैं। भारत की अर्थव्यवस्था दूसरे देशों के मुकाबले काफी बेहतर हुई है।

-वित्त मंत्री ने कहा कि आर्थिक सुधारों की दिशा में सरकार लगातार काम कर रही है। इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरना पहले से काफी आसान हुआ है। जीएसटी को भी और आसान बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कई देशों की तुलना में हमारी विकास दर भी काफी अच्छी है।

-फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टमेंट (FPI) पर सरचार्ज नहीं लिया जाएगा। शेयर बाजार में कैपिटल गेन्स पर भी सरचार्ज नहीं लिया जाएगाः वित्त मंत्री

-विजयादशमी से केंद्रीय सिस्टम से नोटिस भेजे जाएंगे। टैक्स के नाम पर किसी को परेशान नहीं किया जाएगा। टैक्स उत्पीड़न की घटनाओं पर रोक लगेगी।

-एजेंडे में सुधार सबसे ऊपर- वित्त मंत्री ने कहा है सरकार के एजेंडे में आर्थिक सुधार सबसे ऊपर है. सरकार वेल्थ क्रिएटर्स का सम्मान करती है. टैक्सपेयर्स को परेशान नहीं किया जाएगा.

-बिजनेस करना होगा आसान- वित्त मंत्री ने कहा है कि ईज ऑफ डूइंग के तहत बिजनेस मामलों का 48 घंटे में निपटारा होगा. एमएसएमई और घर खरीददारों के लिए एक मजबूत आईबीसी लाया गया है. साथ ही, विलय और अधिग्रहण को आसान किया जाएगा.

-सरकार पर आरोप लगते हैं कि हम टैक्स को लेकर लोगों को परेशान कर रहे हैं। यह पूरी तरह झूठ है। हम जीएसटी की प्रक्रिया को और सरल बनाने जा रहे हैं। टैक्स से जुड़े कानूनों में भी हम सुधार कर रहे हैं।

-1 अक्टूबर से केंद्रीय सिस्टम से नोटिस भेजे जाएंगे- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-टैक्स के नाम पर किसी को परेशान नहीं किया जाएगा- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-हम टैक्स और लेबर कानूनों में लगातार सुधार कर रहे हैंः वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था काफी मजबूत है। कई देशों की तुलना में हमारी विकास दर भी काफी अच्छी है।

-आर्थिक सुधारों की दिशा में सरकार लगातार काम कर रही है। इनकम टैक्स रिटर्न भरना पहले से काफी आसान हुआ है। आगे हम GST को भी और आसान बनाएंगे।

-जीएसटी रिफंड को और आसान किया जाएगा- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-भारत की विकास दर बाकी देशों से बेहतर- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-दुनिया के मुकाबले भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-दुनिया भर के देश मंदी का सामना कर रहे हैं- वित्त मंत्री

-हमारी अर्थव्यवस्था काफी बेहतर हालात में है। हालांकि दुनिया भर में मांग में कमी के आसार दिखाई पड़ रहे हैंः वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-वैश्विक मंदी के हालात को हमें समझने की जरूरत है। चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वॉर की वजह से मंदी की समस्या सामने आ रही हैः वित्त मंत्री

-ऐसा नहीं है कि मंदी की समस्या सिर्फ भारत के लिए है बल्कि दुनिया के बाकी देश भी इस समय मंदी का सामना कर रहे हैंः वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

-अर्थव्यवस्था में सुधार की कोशिश सरकार के अजेंडे में सबसे ऊपर हैः निर्मला सीतारमण

-आर्थिक सुधारों की दिशा में सरकार लगातार काम कर रही है। इनकम टैक्स रिटर्न भरना पहले से काफी आसान हुआ है। आगे हम GST को भी और आसान बनाएंगे।

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।