पीरियड्स या मासिक धर्म हर एक महिला के प्रजनन स्वास्थ्य का एक हिस्सा है. आमतौर पर 45 से 55 साल की उम्र में मोनोपॉज होता है. इसके अलावा जब एक महिला प्रेग्नेंट होती है तो उसे पीरियड्स नहीं होते है क्योंकि गर्भवती महिला के शरीर में बहुत से हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जो मासिक धर्म को रोकते हैं. वहीं प्रेग्नेंसी के बाद तुरंत पीरियड्स होना संभव नहीं होता है. अगर ऐसा होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

प्रेग्नेंसी के बाद एक महिला के अंदर कई तरह के हार्मोनल परिवर्तन होते है. प्रेग्नेंसी के बाद ब्रेस्टफीडिंग पर निर्भर होता है कि आखिर कब पीरियड्स होगे. इसीलिए हर एक प्रेग्नेंट महिला का स्वास्थ्य अलग-अलग होता है. जानें प्रेग्नेंसी के बाद होने वाले पीरिड्यस में कैसे खुद का ख्याल रखें. साथ ही जानिए कि पीरियड्स प्रेग्नेंसी के बाद कब शुरु होते है. साथ ही जानें डाइट.

प्रेंग्नेसी के बाद पीरियड्स देर से आने के कई कारण हो सकते हैं.

अगर कराती हैं ब्रेस्टफीडिंग

अगर कोई महिला स्तनपान कराती है तो पीरियड्स में थोड़ी देर हो सकती है. इसकी वजह है कि दूध के उत्पादन के लिए प्रोलैक्टिन हार्मोन की जरूरत होती है. जिसके कारण प्रजनन हार्मोन कम हो जाते हैं. जिसका रिजल्ट ये निकलता है कि पीरियड्स में देरी हो जाती है. इन्ही में कुछ महिलाओं को स्‍तनपान करवाने की वजह से 6-8 महीने के बाद माहवारी आना शुरू होती है. जब आप दूध पिलाना बंद कर देती हैं तब पीरियड नार्मल तरीके से शुरू हो जाता है.

अगर नहीं कराती हैं ब्रेस्टफ्रीडिंग

अगर कोई महिला ब्रेस्टफ्रीडिंग नहीं कराती है तो उसे डिलिवरी के बाद 1 से लेकर 3 माह के अंदर पीरियड्स हो जाते है. अगर 3 महीने बाद आपको पीरियड्स न हो तो आपको गायनोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए. जिससे पीरियड्स न होने का सही कारण सामने आए.

प्रेग्नेंसी के बाद डाइट का रखें खास ख्याल

प्रेग्नेंसी के समय वजन अधिक बढ़ जाता है. इसलिए डिलीवरी होने के बाद खुद को फिट रखना जरूरी होता है और आप अच्छी डाइट, एक्सरसाइज से बढ़े वजन को कम कर सकती है. इसलिए अपनी डाइट में हेल्दी चीजें लेना शुरू करें. जैसे प्रोटीन से भरपूर दूध, चीज, दही, मछली और बीन्स इसके अलाला आप फल, सब्जियां, अनाज आदि का भी सेवन करें. जिससे मां और बच्चा दोनों की बॉडी मजबूत रहेगी इसके अलावा अपनी डाइट में ऐसी चीजों का शामिल करें जिसमें विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर पाए जाते हैं. इसके साथ ही जंकफूड, एल्कोहॉल और कैफीन का सेवन सीमित तरीके से ही करें.

एक्सरसाइज

प्रेग्नेंसी के बाद भी आपका वजन ज्यादा होता है. इसके लिए आप रोजाना 20-30 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें. लेकिन ध्यान रहें कि ये एक्सरसाइज हल्की और आरामदेय होनी चाहिए क्योंकि डिलीवरी के बाद शरीर काफी लचीला हो जाता है और ऐसे में हार्ड एक्सरसाइज इसे नुकसान पहुंचा  सकती है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।