जनवरी का महीना, जहां हाड़ गलाने वाली ठंड पड़ रही है, वहां एक बुजुर्ग ऐसे हैं जो बर्फ की सिल्ली पर सोते हैं. बर्फ खाते हैं और गर्मी में अलाव सेकते हैं. ये बहुत अजीबोगरीब शख्स है, जिसके बारे में जानकर यकीं नहीं कर पाएंगे. डॉक्टर्स भी हैरान हैं, वे समझ ही नहीं पा रहे कि ऐसा हो कैसे सकता है. हरियाणा के महेंद्रगढ़ के गांव डेरोली अहीर का रहने वाला संतलाल सभी के लिए पहले बना हुआ है. क्योंकि इस शख्स को गर्मी में सर्दी लगती है और सर्दी में गर्मी लगती है.

यह शख्स तपती गर्मी में कंबल ओढ़े रहता है और अलाव सेकता है. वहीं भरी सर्दी में वह आइसक्रीम खाता है. अपने शरीर को देखकर यह शख्स खुद भी चौंक जाता है. वहीं गांव वाले कहते हैं कि हम संत राम को बचपन से देखते आ रहे हैं और जैसा वह कह रहा है, वैसा ही है.

संतलाल खुद बताते हैं कि गर्मी में अगर रजाई और अलाव न मिले तो बुजुर्ग को नींद नहीं आती और कंपकंपी चढ़ी रहती है. ज्येष्ठ माह में जब लोग लू से बचने के लिए एसी, कूलर व पंखों का इस्तेमाल करते है. उस वक्त संतलाल को दिन में चलने वाली लू सोने पर सुहागे का काम करती हैं. कंबल और रजाई ओढ़ कर सोना पड़ता है. दिन में 10 बजने के बाद अलाव का सहारा लेना पड़ता है.

संतलाल बताते हैं कि उनका शरीर मौसम के विपरीत काम करता है. सर्दी के मौसम में अगर वह दिन में बर्फ न खाएं तो उनको चैन नहीं आता. भरी सर्दी के मौसम में जोहड़ या नहर में दिन में कम से कम तीन बार नहाना पड़ता है. घर पर बर्फ की सिल्ली पर सोता हूं, बर्फ खाता हूं. यह सब संतलाल की आम दिनचर्या है और अब तो घरवालों को भी यह सब आम लगने लगा है.

कहते हैं कि जिस तरह नशा करने वाले को नशीली वस्तु जब तक ना मिले, तब तक वह तड़पता है. ठीक उसी तरह अगर इस बुजुर्ग को गर्मी में आग और सर्दी में बर्फ समय पर ना मिले तो समझो शरीर व दिमाग में हड़बड़ाहट शुरू हो जाती है. वह आजतक बीमार नहीं हुआ. सिर्फ सादा खाना दाल-रोटी ही रोजाना का भोजन है. वर्ष 1976-77 में मैट्रिक पास की. 21 साल की उम्र में शादी हुई. लोग अब इस बुजुर्ग को ‘मौसम विभाग’ के नाम से पुकारते हैं.

क्या कहते है डिप्टी सीएमओ

संतलाल के बारे में डिप्टी सीएमओ डा. अशोक कुमार का कहना है कि सर्दी और गर्मी का अहसास हमारे दिमाग में स्थित थर्मोरेगुलेटरी प्वाइंट से होता है. इस थर्मोरेगुलेटरी प्वाइंट को थैलेमस व हाईपो थैलेमस कंट्रोल करते है. इससे संबंधित कोई बीमारी होने पर ही मनुष्य को इस तरह का अहसास होता है. वैसे मैंने अपने जीवन में इस तरह का केस नहीं देखा है. मेडिकल कॉलेज स्तर पर यह एक शोध का विषय है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।