इस वर्ष गुरू पूर्णिमा का उत्सव ग्रहण योग के साये में मनाया जाएगा, इसके पहले ऐसी स्थिति 150 वर्ष बनी थी, जब सूर्य औऱ चंद्र उच्च के राहु औऱ केतु के संपर्क में थे, इस बार वेसी ही स्थिति बनी हैं, परंतु इस बार स्थिति खतरनाक हैं, इस बार सूर्य राहु के प्रभाव के साथ शनि की दृष्टि में भी हैं,वही चंद्र केतु के साथ शनि के प्रभाव में हैं, स्थिति खतरनाक हैं. 

भूलकर भी 16 जुलाई तक लापरवाही न बरतें,यात्रा आवश्यक हो तो ही करें, विवादो लड़ाई आदि से बचें, माता पिता का ध्यान रखे,नवजात शिशुओ के लिए अशुभ समय, उनका ध्यान रखना होगा, 

*चंद्र ग्रहण का प्रभाव*- सप्ताह के अंत में गुरू पूर्णिमा तथा इसी दिन चंद्र ग्रहण होगा,जो सभी राशियों के लिए विशेष तौर पर भारी रहेगा. 

*सूर्य,शुक्र,राहु का ग्रहण योग स्त्रियों के लिए कष्टकारी रहेगा, रोज आवागमन करने वाली स्त्रियां विशेष सावधानी बरतें.  *सूर्य शनि का मारक दृष्टि योग, पिता पुत्र आपस में किसी भी विवाद से बचें, परिस्थितियो को समझते हुए संयम बनाए.  

*मंगल बुध पूरे सप्ताह गुरू की उच्च राशि में उनकी नवम दृष्टि के प्रभाव में रहेंगे, सेना, पुलिस के लिए शानदार समय, महत्वपूर्ण सफलता व सम्मान मिलेगा. 

*चंद्र ग्रहण सूतक औऱ ग्रहण काल*-इस बार 16 तारीख़ को गुरू पूर्णिमा हैं जो चंद्रग्रहण के कारण बाधित रहेगी. 

*गुरू पूजन का समय*-इस दिन ग्रहण योग होने के कारण ग्रहण के 12 घण्टे पहले यानी दोपहर में 1:10 तक ही गुरू पाद पूजा का कार्यक्रम होगा, इसके बाद सभी मन्दिरों के कपाट बंद हो जाएंगे. 

*ग्रहण काल*-ग्रहण मध्य रात्रि 1:11 मिनिट से सुबह 4:12 तक रहेगा. 

*ग्रहण काल में क्या करें*-ग्रहण काल में भगवान का नाम स्मरण सर्वश्रेष्ठ होता हैं, इस अवधि में यात्रा, उत्सव, वाद विवाद, नवीन कार्य से दूर रहना चाहिए. 

*दान करें*-इस अवधि में अंधे कोढ़ी, अपंग, मानसिक रूप से विक्षिप्त तथा दरिद्र लोगो को दान करना चाहिए. 

*इन राशियों के लिए घातक*-वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, वृश्चिक, धनु, राशि के लिए कष्टपूर्ण रहेगा. 

*गणेश औऱ भैरव मंत्र जाप से लाभ*-इस बार ग्रहण योग में चंद्र पीड़ित हो रहा हैं साथ ही सूर्य भी शनि शुक्र औऱ राहु से पीड़ित हो रहा हैं, इसके लिए उपरोक्त राशि वालो को भगवान गणेश औऱ भैरवजी का मानसिक स्मरण उनके मंत्रों का जाप करते रहना चाहिए. 

*चंद्र ग्रहण का फल*-ग्रहण योग तथा शनि का दृष्टि संबंध राज्य से टकराव आन्दोलन पिता पुत्र में मतभेद,यात्रा में कष्ट, दुर्घटना का भयंकर योग,धार्मिक यात्रा में नुकसान. 

*शुक्र का मिथुन राशि में पीड़ित होना, रेप,दुष्कर्म की हृदय विदारक घटनाओ तथा व्यक्ति के यौन  चरित्र का चिंतनीय संकेत होगा. 

*छोटे औऱ नवजात बच्चों को अग्नि पानी चोट से होने वाली आकस्मिक दुर्घटनाओं से बचाकर रखे. 

*माता जिनके नवजात बच्चे हैं वे खास सतर्क रहें, भगवान गणेश का स्मरण करें ग्रहण के पहले ही उनका पूजन कर, दान आदि करें. 

*15जुलाई तक महिलाओ अपना खास ध्यान रखे, अपनी बच्चियों बच्चों पर भी नजर रखे. 

*मंगल का गुरू की शुभ दृष्टि में होना, अग्नि, विधुत, मारकाट आदि से राहत के संकेत दें रहा हैं. 

इस सप्ताह ग्रहो के इतने  विशिष्ट योग बन रहे हैं,जो कु़छ राशियों के लिए लाभदायक औऱ कुछ के लिए हानिकारक रहेंगे. 

*मिथुन राशि, कर्क राशि,कन्या राशि, वृश्चिक राशि,धनु राशि के लिए समय कठिन हैं. 

*जिनका जन्म 15 जून से 15जुलाई के बीच हुअा हैं, औऱ यदि उन्हें राहु शनि की दशा चल रही हैं तो वे किसी भी प्रकार की यात्राओं, वाहन आदि 15जुलाई तक दूरी बनाकर रखें, राहु औऱ शनि की ग्रह शांति करवाए. 

*उक्त राशि वालो को पिता पक्ष, दाहिना नेत्र, हृदय संबधी खतरे का योग, विशेष ध्यान रखे. 

*वृषभ, तुला, मकर,कुंभ राशि के लिए शुभ समय वाहन नवीन ग्रह विलासिता की वस्तुओं का योग बनेगा. 

*पिकनिक व पर्यटन के दौरान यात्रा व अन्य गतिविधियों में सावधानी रखे. 

*विशेष*-इस सप्ताह योग काफी खतरनाक बन रहे हैं इसीलिए भगवान गणपति, भैरवनाथ,हनुमानजी की विशेष पूजनपाठ करें,पीपल में दीपक लगाए. 

*जिन्हें राहु या शनि की दशा चल रही हैं वे खास ध्यान रखे.

सभी राशियों के लिए समय

*मेष*-आपके लिए समय ठीक हैं, फिर भी यात्राओं के दौरान सावधानी बरते, गुरू स्थान की सेवा करें. 

*वृषभ*-पानी से दूर रहे, नदी, तालाब आदि में लापरवाही घातक होगी, नेत्रों की सुरक्षा पर ध्यान दें. 

*मिथुन*--मान सम्मान का ध्यान रखे, वैवाहिक जीवन में संयम बनाकर रखे, व्यापार में साझीदारो से बनाकर रखे. 

*कर्क*-स्वास्थय का ध्यान रखे, व्यर्थ की चिंता से बचें, कोर्ट कचहरी के विवादो से दूर रहे, समय ठीक नहीँ,डिप्रेशन से बचें 

*सिंह*-रोग ऋण, शत्रुओ के विरोध का  सामना करना पड़ेगा, प्रतिष्ठा का ध्यान रखे, समय ठीक नहीँ. 

*कन्या*-कर्मक्षेत्र में चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों से लाभ मिलने का योग, वाहन, मकान तथा समाज से जुड़े कार्यो में सावधानी बरतें. 

*तुला*-समय ठीक हैं, भाग्य से खास सफलता का योग, मेहनत व हिम्मत से सफलता का योग. 

*वृश्चिक*-समय ठीक नहीँ किसी षड्यन्त्र में उलझने के योग, कोई भी कार्य सोच समझकर करें. 

*धनु*-पति पत्नी आपसी संयम से विवादो को सुलझाए, नवीन व्यापार व साझीदारी से बचें, समय ठीक नही. 

*मकर*-समय ठीक हैं, कोई भी व्यर्थ की चिंता आपके स्वास्थय के लिए हानिप्रद हो सकती हैं. 

*कुंभ*-सन्तान पक्ष से विवाद न करें, टकराव से बचें, खानपान में ध्यान रखे, समय ठीक हैं. 

*मीन*-मकान, वाहन, जनता से जुड़े मुद्दो में सावधानी रखे, भाग्य पक्ष बुलंद हैं. 

पं .चंद्रशेखर नेमा हिमांशु

9893289184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।