बदलते मौसम में बहुत से कीड़े-मकौड़े घर में आ जाते हैं. इनमें से कुछ जीव काफी खतरनाक भी होते हैं, जिनमें से एक है कनखजूरा (kankhajura). कनखजूरा का डंक काफी पीड़ादायक और जहरीला होता है.

कनखजूरा के काटने पर आपको थकावट होने लगती है और शरीर में ऑक्सीजन की प्रक्रिया धीमी हो जाती है. इसके कारण शरीर में ऐंठन आ जाती है. कई बार तो कनखजूरे का जहर फैलने के कारण इंसान की जान भी जा सकती है. ऐसे में इसके काटने, शरीर से चिपकने या कान में जाने पर तुरंत इलाज करना बहुत जरूरी है. आज हम आपको बताएंगे कि कनखजूरे के काटने पर आपको क्या करना चाहिए.

कनखजूरे के काटने का घरेलू उपचार

सेंधा नमक- अगर कनखजूरा आपके कान में चला जाएं तो तुरंत पानी में सेंधा नमक मिलाकर कान में डालें. ऐसा करने से कनखजूरा मर जाएगा या फिर पानी के साथ ही बाहर आ जाएगा.

चीनी पाउडर- शरीर के किसी हिस्सा पर कनखजूरा चिपक जाएं तो उसपर चीनी या उसका बुरा डालें. वह तुरंत शरीर से निकल जाएगा.

हल्दी पाउडर- कनखजूरे के काटने पर तुरंत हल्दी पाउडर, दारूहल्दी और सेंधा नमक को मिलाकर पीस लें. इसके बाद इसे देसी घी में मिलाकर कनखजूरे के काटने वाली जगह पर लगाएं. ऐसा करने से जहर नहीं फैलेगा और जख्म भी कुछ समय में ठीक हो जाएगा.

प्याज का लेप- कनखजूरे के काटने पर तुरंत प्याज को पीसकर उस जगह पर लगाएं. इससे भी उसका जहर नहीं फैलेगा.

लहसुन- लहसुन और प्याज को पीसकर लेप बना लें. इसके बाद इसे शरीर के उस हिस्से पर लगाएं जहां कनखजूरे ने काटा हो. इसका जहर तुरंत उतर जाएगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।