मलेरिया एक ऐसी बीमारी है, जो परजीवी रोगाणु की वजह से होती है. ये रोगाणु इतने छोटे होते हैं कि हम इन्हें देख नहीं सकते. मलेरिया के लक्षण हैं बुखार, कँपकँपी, पसीना आना, सिरदर्द, शरीर में दर्द, जी मचलना और उल्टी होना. कभी-कभी इसके लक्षण हर 48 से 72 घंटे में दोबारा दिखायी देते हैं. यह इस बात पर निर्भर करता है कि एक व्यक्‍ति को कौन-से परजीवी की वजह से मलेरिया हुआ है और वह कब से बीमार है.

कैसे फैलता है 

मलेरिया एक परजीवी रोगाणु से होता है, जिसे प्लास्मोडियम कहते हैं. ये रोगाणु एनोफेलीज़ जाति के मादा मच्छर में होते हैं और जब यह किसी व्यक्‍ति को काटती है, तो उसके खून की नली में मलेरिया के रोगाणु फैल जाते हैं.

ये रोगाणु व्यक्‍ति के कलेजे की कोशिकाओं तक पहुँचते हैं और वहाँ इनकी गिनती बढ़ती है.

जब कलेजे की कोशिका फटती है, तो ये रोगाणु व्यक्‍ति की लाल रक्‍त कोशिकाओं पर हमला करते हैं. वहाँ भी इनकी गिनती बढ़ती है.

मलेरिया के रोगाणु लाल रक्‍त कोशिकाओं पर हमला करते हैं, जिस वजह से वे नष्ट हो जाती हैं

जब लाल रक्‍त कोशिका फटती है, तो रोगाणु दूसरी लाल रक्‍त कोशिकाओं पर हमला करते हैं.

रोगाणुओं का लाल रक्‍त कोशिकाओं पर हमला करने और कोशिकाओं के फटने का सिलसिला जारी रहता है. जब भी लाल रक्‍त कोशिका फटती है, तो व्यक्‍ति में मलेरिया के लक्षण नज़र आते हैं.

बचाव 

मच्छर-दानी लगाकर सोएँ और ध्यान रखें कि

उस पर मच्छर मारनेवाली दवा लगी हो.

उसमें कोई छेद न हो और वह कहीं से फटी न हो.

वह अच्छी तरह लगी हो, ताकि मच्छर अंदर न आएँ.

घर के अंदर मच्छर मारनेवाली दवा छिड़कें.

घर के दरवाज़ों और खिड़कियों पर जाली लगाएँ और ऐ.सी. और पंखों का इस्तेमाल करें, ताकि मच्छर एक जगह पर न बैठें.

हलके रंग के कपड़े पहनिए जिनसे आपका शरीर पूरी तरह ढका हो.

ऐसी जगह पर मत जाइए, जहाँ झाड़ियाँ हों क्योंकि वहाँ बहुत मच्छर होते हैं, या जहाँ पानी इकट्ठा हो क्योंकि वहाँ मच्छर पनपने का खतरा होता है

लक्षण 

तेज़ बुखार

पसीना

ठंड और कँपकँपी

सिरदर्द

माँसपेशियों में दर्द

थकान

जी मचलना

उल्टी

दस्त

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।