प्रकृति जो हमेशा मानव के लिए वरदान रहा है मनुष्य को प्रकृति पुरुष कहा गया है, भूमि, जल वायु ,अग्नि अन्न इसी प्रकृति में दृश्य व अदृश्य रूप में व्याप्त है, इसी प्रकृति में कुछ ऐसे रहस्य है जिनसे हम अज्ञात है, परंतु ये हमारे लिए उतने ही उपयोगी है, जितने उपयोगी जल वायु अग्नि है..

बारिशः- जी हां आज इन्हीं के विषय में बात करते हैं कि किस तरह बारिश के जल हमारे कष्ट व भाग्य को बदल सकते हैं-

1:- धन लाभ:- ईशान कोण (उत्तर-पूर्व )दिशा जल रखने का स्थान है, ये स्थान गुरु की दिशा व सकारात्मक प्रवाह की दिशा मानी जाती है, इस दिशा में बारिश का जल शीशे के बर्तन में भरकर रखने से धन लाभ के योग बनते हैं..

2:- कलह निवारण खुशहाली:- बारिश के जल जहां हमें धन लाभ की प्राप्ति कराते हैं, वहीं दूसरी तरफ इस जल से पारिवारिक जीवन के कष्ट से मुक्ति व खुशियां भी ला सकते हैं, बारिश के जल को इकट्ठा कर किसी तांबे के पात्र से गुरुवार या एकादशी के दिन लक्ष्मी नारायण के मूर्ति पर अभिषेक करने से खुशियां आती है..

मंत्रः- लक्ष्मी नारायणायभ्यां नमः मंत्र पढ़ते हुए चढ़ाएं..

3:- रोग निवारण:- यूँ तो रोग निवारण हेतु कई मंत्र व कई प्रयोग है, परंतु बारिश के जल से भी रोग मुक्ति मिल सकती है, बारिश के जल से भगवान शिव का अभिषेक रुद्र सूक्त या महामृत्युंजय मंत्र से करें या जल को देखते हुए फिर इस जल पर मंत्र की ऊर्जा को जल में फूंक मारकर 3, 5, 7, 11 की संख्या में डाल दें फिर इस जल का सेवन रोगी को कराएं इससे आपको रोग मुक्ति मिलेगी..

4:- कर्ज हो तो:- आजकल सबसे बड़ी समस्या यही देखने को मिलती है कि कर्जा हो गया है? निवारण क्या है? और मनुष्य एक कर्जा चुकाने के लिए दूसरा लेता है, उपाय कोई ऋण मोचन मंगल स्त्रोत कोई मंगल व्रत, अनेक उपाय व टोटके अपनाता है, फायदे भी होते हैं परंतु सभी की समया अवधि समया अवधि निश्चित है, बारिश के जल से भी ऋण मुक्ति संभव है, बारिश के जल में दूध की कुछ बूंदें नहाने से पानी में मिलाकर रविवार से शुरू कर नित्य स्नान करें लाभ होगा, हर प्रयोग में विश्वास जरूरी है..

5:- इच्छा पूर्ति प्रयोग:- शिवं शब्दात्मकं ब्रह्मा जौ तप करै कुमारि तुम्हारी भावी मेट सके त्रिपुरारी-- जी ये सच है- शिवजी के लिए कुछ भी असंभव नहीं शिव सभी की मनोकामना की पूर्ति करते हैं श्रावण मास भगवान शिव का महीना है, इस महीने अगर सोमवार, अमावस्या, पूर्णिमा, अगर बारिश के जल में पंचामृत- दूध- शहद या कुश मिलाकर शिव का अभिषेक करें व अपनी इच्छा कहे तो भगवान शिव इच्छा जरूर पूरी करेंगे..

एस्ट्रोलॉजर राज पाण्डेय आचार्य

अयोध्या

6394126276

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।