पलपल संवाददाता, भोपाल. केंद्र में भाजपा की दूसरी बार सरकार बनने के बाद मध्य प्रदेश के सांसदों का रुतबा दिल्ली में बढ़ गया है. पहले थावरचंद गहलोत को अरुण जेटली की जगह राज्यसभा में बीजेपी का नेता नियुक्त किया गया, उसके बाद सतना से सांसद गणेश सिंह को बीजेपी संसदीय कार्यसमिति में सचिव बनाया गया है.

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश से जीतकर गए सांसदों में से कई को मोदी सरकार कैबिनेट में अहम मंत्रालय दिया है. अब मध्यप्रदेश के ही राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत को पार्टी ने राज्यसभा में सदन का नेता बनाया है. थावरचंद गहलोत से पहले राज्यसभा में सदन के नेता अरुण जेटली थे. अब बीजेपी संसदीय कार्यसमिती की जो सूची जारी हुई. उसमें लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी सदन के नेता होंगे. वहीं, राज्यसभा में थावरचंद गहलोत को यह जिम्मेवारी मिली है. इसके साथ ही पीयूष गोयल राज्यसभा में बीजेपी के उपनेता होंगे.

गणेश सिंह भाजपा संसदीय कार्यसमिति के सचिव बने

मध्यप्रदेश के सतना से बीजेपी सांसद गणेश सिंह को भी बीजेपी के संसदीय कार्यसमिति में जगह मिली है. गणेश सिंह लोकसभा में संसदीय कार्यसमिति के सचिव होंगे. गणेश सिंह चौथी बार सतना से सांसद बने हैं.

थावरचंद गहलोत का परिचय

थावरचंद गहलोत बीजेपी के राज्यसभा सांसद थावरचंद गहलोत मध्यप्रदेश के कद्दावर नेता हैं. उनका जन्म 18 मई 1948 को हुआ है. वे उज्जैन जिले के नागदा के रहने वाले हैं. मोदी सरकार वन में भी ये केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थे. इस बार फिर उन्हें मोदी कैबिनेट में जगह मिली है. थावरचंद गहलोत मजबूती के साथ सदन में पार्टी का पक्ष रखते हैं. इसके साथ ही पीएम मोदी के गुडबुक में भी हैं. अरुण जेटली बीमार हैं, इसलिए पार्टी ने राज्यसभा में थावरचंद गहलोत पर भरोसा जताया है. गहलोत सदन में पहली कुर्सी पर बैठेंगे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।