पलपल संवाददाता, जबलपुर. इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी के दौरान बार-बार होने वाली बिजली की गुल की समस्या ने विद्युत उपभोक्ताओं को परेशान कर रखा है. कोई भी ऐसा दिन नहीं होता, जिसमें बिजली गुल नहीं होती हो, लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारियों को इससे कोई सरोकार नहीं है. विद्युत अधिकारी जब विद्युत व्यवधानों को नहीं रोक पाते तब वह अपनी जिम्मेदारी और गलती दूसरों पर थोपने के बहाने ढूंढऩे लगते हैं. बार-बार बिजली गुल से परेशान शहरवासियों के आक्रोश को देखते हुए विद्युत अधिकारियों ने अपनी गलती का ठीकरा चिडिय़ा और गिलहरी पर फोडऩा शुरू कर दिया था.

बार-बार आने वाले विद्युत व्यवधानों के लिए चिडिय़ा और गिलहरी को कारण बताते हुये अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोडऩे वाले विद्युत अधिकारी शायद ये भूल गये हैं कि चिडिय़ा और गिलहरी उस समय से शहर में रह रही हैं, जब से ये शहर है. इसके पहले तो कभी चिडिय़ा और गिलहरी के कारण विद्युत व्यवधान नहीं आये, फिर अचानक ऐसा क्या हो गया कि चिडिय़ा और गिलहरी विद्युत व्यवधानों का कारण बन गये. दरअस्ल अपनी गलती और लापरवाही छिपाने के लिए विद्युत अधिकारी चिडिय़ा और गिलहरी को विद्युत व्यवधानों का कारण बताकर बचना चाह रहे हैं, लेकिन इस ओर से आँख बंद कर ली कि उनके द्वारा खुल छोड़े गये सर्किट बॉक्स और सर्विस बॉक्स भी इसके लिए जिम्मेदार हैं.

बताया जा रहा है कि शहर में तेजी कम होती पेड़ों की संख्या के कारण चिडिय़ा, गिलहरी से जैसे छोटे जीव अपने रहने के लिए जगह की तलाश करते रहते हैं, इस दौरान उन्हें विद्युत विभाग द्वारा खुले छोड़े गये सर्किट बॉक्स, सर्विस बॉक्स सहित अन्य विद्युत उपकरण उपयुक्त नजर आते हैं. ये बॉक्स खुले होने का कारण चिडिय़ा और गिलहरी इसमें अपने लिए घोसला बना लेते हैं.

घोसला बनाते समय घोसले में घास-फूस के साथ ही धातु के तार भी लगा देते हैं, जो सर्किट बॉक्स के अंदर खुले कटआउट के संपर्क में आने के बाद विद्युत व्यवधान का कारण बन जाते हैं. इसी तरह विद्युत पोल पर टंगे सर्विस बॉक्स में भी यही स्थिति बनती है, लेकिन लापरवाह विद्युत अधिकारी इसे नजरअंदाज कर अपनी गलती मानने से इंकार कर देते हंै.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।