आगामी 15 जून से आकाशमंडल में सूर्य राहु का ग्रहण योग, मंगल राहु का अंगारक योग, सूर्य शनि का दृष्टि संबंध,मंगल शनि का दृष्टि संबंध होने जा रहा हैं. 

*कब कौनसी ग्रह स्थिति*

*15 जून से 22 जून तक ग्रह योग विशेष रूप से भारी हैं,इस समयावधि में सूर्य मंगल राहु के प्रभाव तथा शनि की दृष्टि में रहेंगे. 

*22 जून  से मंगल महाराज गुरू की उच्च राशि में पहुंच जाएंगे यह ग्रह स्थिति थोडी राहत पहुंचाने वाली रहेगी. 

*विशेष सलाह-15 जून से 22 जून तक किसी भी प्रकार की यात्रा नई योजनाओं का शुभारंभ, कोई नया कार्य बिल्कुल न करें. 

*पूर्व के देशों राज्यों के लिए अशुभ समय, कोई बड़ी प्राकृतिक आपदा आतंकी हमला, दों  देशों के बीच युध्द का योग. 

*अमेरिका औऱ चीन के बीच हालात खतरनाक स्तर पर पहुंचेंगे 

*पूर्वोत्तर में बाढ़ भूस्खलन,तथा वहां की राज्य सरकारों के लिए खतरा. 

*बंगाल में भयंकर मारकाट आतंकी हमला तथा राजनैतिक उठापटक का योग, यहां राष्ट्रपति शासन लगने के योग बनेंगे. 

*पूर्वोत्तर में किसी प्रमुख नेता की हत्या का योग. 

*इन तारीखों को नोट करले -22,23 जून 1,2जुलाई औऱ 10, 11 जुलाई खतरनाक तारीखें हैं इन  तारीखें को विशेष सावधानी बरतें. 

 15 जून से 15 जुलाई के बीच बनने वाली हैं इसमें 15 जून से 22 जून तक  बहुत ही अशुभ योग का निर्माण होगा इस समयावधि में आतंकी घटना, भूकंप युद्ध की संभावना सुनामी तूफ़ान, वाहन दुर्घटनाओं से जनहानि का योग बनेगा. 

*15 जून से 15 जुलाई तक अशुभ स्थिति -15जून से 15 जुलाई तक सूर्य देव मिथुन राशि में मंगल औऱ राहु का साथ रहेंगे ई समयावधि में मंगल औऱ सूर्य पर शनि की दृष्टि भी रहेगी, सूर्य राहु की पकड़ में रहेगा साथ ही शनि की दृष्टि भी रहेगी,सूर्य औऱ मंगल राहु औऱ शनि की पकड़ में रहेंगे. 

*22 जून तक खतरनाक समय*-15 जून से 22 जून तक  सूर्य राहु का ग्रहण योग मंगल राहु का अन्गारक योग तथा शनि का दृष्टि संबंध भी रहेगा यह स्थिति विश्व के लिऐ खतरनाक हैं, 22 जून से मंगल गुरू की दृष्टि में आने से थोड़े हालत सुधर जाएंगे लेकिन 15जुलाई तक  राज्य देश औऱ विश्व के लिए अशुभ समय हैं

*भयानक वाहन दुर्घटना हो सकती हैं,रेल, वायुयान, सड़क पानी सभी जगह दुर्घटनाएँ संभावित हैं. 

*किसी प्रधान व्यक्ति की हत्या हो सकती हैं. 

*पूर्वोत्तर क्षेत्र दुर्घटनाओं औऱ आपदा का केंद्र होगा. 

*विश्व के प्रमुख देशों के बीच हवाई युद्ध का खतरा. 

*मौसम तूफानी रूप लेकर तबाही मचा सकता हैं. 

*केदारनाथ उतराखंड हिमाचल कश्मीर में दुर्घटनाओं का योग. 

*मिथुन राशि से प्रभावित पूर्वी क्षेत्र इन आपदाओं से ज्यादा प्रभावित होंगे. 

*देश में किन्हीं राज्यों में सत्ता परिवर्तन का योग. 

*बंगाल में बड़ा राजनैतिक बदलाव का योग यहां राष्ट्रपति शासन की संभावना. 

*देश औऱ विश्व में बड़े आतंकी हमलों का योग. 

*कर्क, वृश्चिक राशि वाले लोगों नगरों औऱ प्रतिष्ठानो कों ज्यादा खतरा हो सकता हैं,इन राशि वालों कों यदि राहु की दशा चल रही हो तो वे खास सावधानी बरतें 

*मिथुन धनु राशि वाले अपने जीवनसाथी व साझीदार से किसी भी बात पर बिगाड़ न करें, अन्यथा अनिष्ट का सामना करना पड़ेगा. 

*सिंह राशि वालों कों चुनौती का  सामना करना पड़ेगा, शत्रुओं से सावधान रहें. 

*कन्या राशि वालों को सामजिक क्षेत्र में विशेष चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. 

*मीन राशि वालों को वाहन, मकान पद प्रतिष्ठा से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा. 

*जिन्हें राहु या शनि की दशा चल रही हो वे खास सावधानी बरतें. 

*15 जून से 15 जुलाई के बीच सावधानी से यात्रा करें. 

*सभी राशियों के लिए*

*मेष*-समय ठीक हैं फिर भी प्रशासानिक कार्यों में विवाद से बचे. 

*वृषभ*-धन योग उत्तम, नेत्रों की सुरक्षा का ध्यान रखे, आर्थिक कार्यों में सावधानी बरतें. 

*मिथुन*-लड़ाई झगड़ों औऱ विवादों से दूर रहें, क्रोध बिल्कुल न करें, अग्नि विधुत औऱ वाहनों से सावधान रहें. 

*कर्क*-स्वास्थय खराब होगा, शारीरिक चोट तथा किसी विवाद में फंसने का योग, अत्यंत सावधान रहे. 

*सिंह*-शुभ समय, विरोधी पक्ष पस्त होगा मान सम्मान में वृद्धि औऱ आर्थिक लाभ के योग. 

*कन्या*-राज्य पक्ष कर्मक्षेत्र के कार्यो में खास सफलता का योग,वाहन चालन सावधानी से करें, सामाजिक विवादों से बचें. 

*तुला*-भाग्य पक्ष बलवान, खिलाड़ी, पुलिस सेना के लिए खास सफलता दायक समय. 

*वृश्चिक*-इस  राशि के लिए अशुभ समय वाहन, अग्नि, मारकाट, झगड़ों से विशेष सावधानी रखे, भगवान भैरवनाथ भोलेनाथ का पूजन करें. 

*धनु*-पति पत्नी व्यापार में साझेदारियां तनाव उत्पन्न करेंगी,विवादों को संयमपूर्वक हल करें, शांत रहे. 

*मकर*-रोग ऋण, शत्रु पस्त होंगे, विरोधियों पर जीत मिलेगी स्वास्थय का ध्यान रखे. 

*कुंभ*-संतान, शिक्षा,संबंधी समस्याओं पर समय व्यतीत होगा, उदर रोग का योग खानपान में सावधानी बरतें. 

*मीन*-वाहन,मकान, सामाजिक विवादों में व्यर्थ की उलझनों से बचें, यात्राओं में संयम बरतें. 

*पिता पक्ष व शासकीय पक्ष संयम बरतें*-आगामी समय सभी पिता व शासकीय पक्ष के लिए संयम बरतने का हैं, हृदय रोगियों को खास सावधानी बरतनी चाहिए. 

*जब भी यात्रा पर जाए भगवान गणेश औऱ भगवन भैरव को मनाकर ही निकले.

*भगवान सूर्य को जल अर्पण करें. 

*नागदेवता का पूजन करें. 

*-पितरों का स्मरण करें, उनसे जुड़ी पूजन पाठ करें. 

*जिन्हें राहु की दशा चल रही हैं वे राहु की शांति कराए 

*मिथुन, कर्क, कन्या, वृश्चिक औऱ धनु राशि वाले मंगल औऱ राहु ग्रह की शांति कराएं. 

पं.चंद्रशेखर नेमा  हिमांशु

9893280184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।