नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली

कॉलेज का विवरण : इस कॉलेज की स्थापना भारत सरकार के कपड़ा मंत्रालय ने स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूयॉर्क के फैशन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के सहयोग से 1986 में की थी. इसका उद्देश्‍य भारत के फैशन उद्योग को प्रोत्‍साहित करना था. बीते सालों में इस प्रमुख फैशन संस्‍थान ने इस क्षेत्र को रोहित बल, मनीष अरोड़ा, ऋतु बेरी और सब्‍यसाची मुखर्जी जैसी नामवर हस्तियां दी हैं जिन्‍होंने न सिर्फ भारत में बल्कि अंतरराष्‍ट्रीय फैशन परिदृश्‍य पर भी अपनी छाप छोड़ी है. निफ्ट दिल्‍ली ने इंडिया टुडे-नीलसन बेस्‍ट कॉलेज सर्वे 2016 की फैशन रैंकिंग में पहला स्‍थान हासिल किया है.

देश भर में फैले अपने 15 कैंपस के साथ निफ्ट इस समय विभिन्‍न विशिष्‍ट कोर्सेज में ग्रेजुएशन और पोस्‍ट ग्रेजुएशन लेवल की 3,300 सीटें सालाना पेश करता है. प्रवेश परीक्षा के माध्‍यम से होने वाले एडमिशन अब आवेदक के प्रोग्राम या कोर्स चयन पर आधारित ऑनलाइन सीट आवंट प्रक्रिया अपनाने से आसान हो गए हैं.

संपर्क करें : नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, हौज खास, गुलमोहर पार्क के सामने, नई दिल्ली
फोन: 011 - 26542100
ईमेल: nift.ho'nift.ac.in
वेबसाइट : www.nift.ac.in/delhi/index.html

इस कॉलेज में फैशन डिजाइन से संबंधित कोर्स सिखाए जाते हैं:

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन फैशन डिजाइन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता : 12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन टेक्सटाइल डिजाइन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता : 12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन एसेसरी डिजाइन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता :12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन लेदर डिजाइन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता :12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

एडमिशन प्रक्रिया : इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस इग्‍जाम और इंटरव्‍यू क्‍वालिफाई करना जरूरी है.

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन फैशन कम्यूनिकेशन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता :12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

एडमिशन प्रक्रिया : इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस इग्‍जाम और इंटरव्‍यू क्‍वालिफाई करना जरूरी है

कोर्स का नाम : बैचलर ऑफ डिजाइन इन अपैरल प्रोडक्शन

डिग्री: बी.डिजाइन

अवधि: 4 साल

योग्यता :12वीं पास, इंग्लिश अनिवार्य

एडमिशन प्रक्रिया : इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस इग्‍जाम और इंटरव्‍यू क्‍वालिफाई करना जरूरी है

कोर्स का नाम: कन्टिन्यूइंग एजुकेशन इन फैशन ज्वेलरी एंड टेक्नोलॉजी

डिग्री : सर्टिफिकेट

अवधि: 6 महीना

योग्यता : 50 फीसदी अंकों के साथ 12वीं पास या 10वीं पास होने के साथ ज्वेलरी इंडस्ट्री में 3 साल का वर्क एक्सपीरियंस या संबंधित फील्ड

में एआईसीटीई (AICTE) या स्टेट बोर्ड ऑफ टेक्निकल एजुकेशन से अप्रूव्‍ड 3-4 साल का डिप्लोमा.

कोर्स का नाम: कन्टिन्यूइंग एजुकेशन इन ज्वेलरी डिजाइन एंड डेवलपमेंट

डिग्री : सर्टिफिकेट

अवधि: 1 साल

योग्यता : 50 फीसदी अंको के साथ 12वीं पास

कोर्स का नाम: कन्टिन्यूइंग एजुकेशन इन हैंडक्राफ्टेड ज्वेलरी डिजाइन एंड ट्रेंड्स

डिग्री : सर्टिफिकेट

अवधि: 1 साल

योग्यता : 50 फीसदी अंको के साथ 12वीं पास 

एडमिशन प्रक्रिया : एडमिशन एंट्रेंस टेस्ट और इंटरव्‍यू पर आधारित होता है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।