जबलपुर. पिछले दिनों एमपी की राजधानी भोपाल में एक मासूम के साथ दुराचार व जघन्य हत्या के मामले में जहां एमपी की कांग्रेस सरकार कानून व्यवस्था के मामले में विपक्षियों के निशाने पर आ गई है, कमलनाथ सरकार से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव इस्तीफा मांग रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ भाजपा पर ही एक दुराचार के आरोपी भाजपा नेता को बचाने के गंभीर आरोप लग रहे हैं, यह आरोप जबलपुर की योग शिक्षिका ने लगाये हैं.

बात प्रदेश भाजपा संगठन पर इसलिए उठना लाजिमी है कि एक तरफ वह दुराचार के एक मामले में एमपी के सीएम व गृहमंत्री से कानून व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति पर इस्तीफा मांग रही है तो दूसरी तरफ उसी के एक नेता पर दुराचार का मामला सामने आया है, अब तो जबलपुर पुलिस ने भाजपा नेता उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली है. एफआईआर दर्ज होने के बाद भाजपा के नेताओं  को भी जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए अपने नेता को सरेंडर करने को कहना चाहिए, क्योंकि ऐसे मामले में संरक्षण देने के आरोप लगना भी एक गंभीर मामला है..

योग शिक्षिका का है यह आरोप.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पूर्व प्रदेश संगठन मंत्री उपेंद्र धाकड़ पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली रांझी निवासी पीडि़ता ने अब जबलपुर सांसद एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह व अन्य नेताओं को भी लपेटे में लेते हुए उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. पेशे से योग शिक्षिका पीडि़ता का कहना है कि राकेश सिंह पुलिस पर दबाव बना रहे हैं. वो मामला दर्ज नहीं होने दे रहे. यही कारण है कि मामले की विधिवत जांच भी नहीं हो पा रही है. महिला का आरोप है कि साल 2013 में उपेंद्र धाकड़ ने उसे प्यार के जाल में फंसा कर उसके साथ एबीवीपी और बीजेपी कार्यालय में उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए थे और लगभग पांच साल तक शादी का झांसा देते रहे और फिर शादी करने से मुकर गए.  .

पुलिस ने दर्ज कर ली एफआईआर.

दरअसल, इस मामले में शनिवार व रविवार 8 व 9 जून की दरमियानी रात जबलपुर में एबीवीपी व एनएसयूआई के समर्थकों के बीच जमकर विवाद हुआ. विवाद इतना बढ़ा कि पुलिस को लाठी चार्ज व आंसू गैस के गोले भी छोडऩे पड़े. इस मामले में भी एनएसयूआई द्वारा पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये कि वह भाजपा के बड़े नेताओं के दबाव में उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कर रही है. अंतत: काफी जद्दोजहद के बाद महिला की शिकायत पर उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ महिला थाना में एफआईआर पंजीबद्ध कर ली गई  है..

पीडि़ता के समर्थन में युवा क्रांति संगठन.

पीडि़ता के समर्थन में आये युवा क्रांति संगठन के संयोजक अनुराग तिवारी ने बताया कि पुलिस दबाव में आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. उन्होंने बीजेपी से आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. उन्होंने कहा कि किसी महिला के साथ पार्टी कार्यालय में ऐसा अपराध हुआ है. .

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।