पलपल संवाददाता, जबलपुर. संस्कारधानी जबलपुर में बीती आधी रात के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) के बीच जमकर बवाल हो गया. एबीवीपी के पूर्व प्रदेश संगठन मंत्री के खिलाफ योग टीचर के यौन शोषण के आरोपों को लेकर दोनों संगठनों के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए. देर रात डेढ़ बजे एनएसयूआई के कार्यकर्ता गुलौआ चौक स्थित एबीवीपी के कार्यालय का घेराव करने पहुंचे थे. विवाद के बाद दोनों तरफ से पथराव और बमबाजी हुई. पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठी चार्ज किया.

बताया जाता है कि एबीवीपी नेता उपेंद्र धाकड़ पर एफआईआर को लेकर एनएसयूआई देर रात 1.00 बजे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यालय गुलौआ चौक पहुंच गई . एनएसयूआई के नेताओं ने यह आरोप लगाया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में कुछ अनैतिक कार्य जारी है. जिसके बाद दोनों संगठन आमने-सामने आ गए, कुछ देर बाद बड़े विवाद की स्थिति निर्मित हो गई, जिस को ध्यान में रखते हुए पुलिस अधीक्षक अमित सिंह मौके पर तुरंत पहुंच गए और उनके साथ 12 थानों का बल भी पहुंच गया. बड़ी मुश्किल से समझा बुझा कर दोनो संगठनों को शांत कराया गया. इस बीच यहां जमकर पत्थर भी चले. स्थिति को नियंत्रण करने के लिए  पुलिस को लाठी चार्ज व आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े.

दोनों पक्षों के लोग हुए घायल

संजीवनी नगर टीआई भूमेश्वरी चौहान ने बताया कि एनएसयूआई के विजय रजक, सचिन, अमित सोनकर इमरान, यशू नीखरा सहित कई लोग एबीवीपी कार्यालय का घेराव करने पहुंचे थे. एनएसयूआई की तरफ से यशु नीखरा व रघु तिवारी को चोटे आई हैं. एबीवीपी की तरफ से शुभम कोरी घायल हुए. दोनों पक्षों की तरफ से मामला दर्ज किया गया है. विवाद की सूचना पर एसपी सहित पूरा अमला मौके पर पहुंचा.

यह है पूरा मामला

यौन शोषण के आरोपों में घिरे एबीवीपी के पूर्व प्रदेश संगठन मंत्री के प्रकरण में गुलौआ चौक स्थित कार्यालय का घेराव करने पहुंचे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी, जिस पर एबीवीपी के छात्र नेता भी सामने आ गए. कुछ ही देर में दोनों पक्षों में वाद-विवाद शुरू हो गया. देखते ही देखते दोनों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई. इसमें कई छात्रों को चोट आई, जिन्हें अस्पताल भिजवाया गया. एबीवीपी कार्यालय के आसपास रहने वाले लोग छात्रों के झगड़े से दहशत में आ गए. बमों की आवाज से लोग जाग गए और झगड़ा समाप्त नहीं होने तक दहशत में रात काटी. लोगों का कहना है कि रात में इस तरह का कार्य निंदनीय है. अगर किसी का विरोध करना है तो दिन में करें, ताकि लोग सुकून से चैन की नीद सो सकें.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।