पीले रसीले आम को इसके स्वाद और बेहिसाब खूबियों की वजह से फलों के राजा का खिताब दिया जाता हैै. यह फल कच्चा और पका, दोनों रूपों में बड़े चाव से खाया जाता है. आम पौष्टिक तत्वों से तो भरपूर है ही, स्वास्थ्यवद्र्धक गुणों की खान भी है. आइए जानते हैं आम के गुण-

आम में फाइबर, विटामिन ए और सी, फोलिक बी9 और बी6, आयरन, कैल्शियमर् और विटामिन ई भरपूर होते हैं. इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट, गैलो टैनिन और मैंजीफरिन जैसे रसायन हमारे शरीर को अनेक बीमारियों से बचाते हैं और उसे स्वस्थ तथा दुरुस्त भी रखते हैं. इन्हीं गुणों के कारण कुछ वैज्ञानिक आम को सुपर फल का दर्जा दे चुके हैं.  

आम में मौजूद विभिन्न प्रकार के फाइटोन्यूट्रिएंट दिल की बीमारियों की आशंका को कम करते हैं. जबकि इसमें मौजूद भरपूर फाइबर रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स भोजन का काम करता है. इससे यह तंत्रिका तंत्र में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है और दिल को आघात (स्ट्रोक) की चपेट में आने से भी दूर रखता है. साथ ही सीएडी (कोरोनरी धमनी रोग) से भी रक्षा करता है.

आम में गेलेसिटन 3 प्रोटीन से भरपूर पैक्टीन, क्यूरेसीटिन, आइसोक्यूरेसीटीन, एस्ट्रागालिन और  पॉली फिनोलिक फ्लेवोनॉयड जैसे एंटीऑक्सिडेंट यौगिक भी उल्लेखनीय मात्रा में पाए जाते हैं. इस वजह से आम का नियमित तौर पर सेवन करना पेट अथवा जीएल ट्रैक, ल्यूकेमिया , प्रोस्टेट कैंसर और कीमो बेस्ड ब्रेस्ट कैंसर जैसी बीमारियों को बढ़ने से रोकने में मददगार होता है. इसमें पाए जाने वाले बीटा कैरोटीन और विटामिन ए फोटोप्रोटेक्टिव एजेंट होते हैं, जो त्वचा की एपिडर्मिस परत को सूरज की हानिकारक यूएवी किरणों से बचाते हैं. 

आम में आयरन, फोलेट और मैग्नीशियम जैसे खनिज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इसलिए इसके नियमित सेवन से खून की कमी दूर होती है. आम खासतौर पर गर्भवती और मेनोपॉज की अवस्था वाली महिलाओं और बच्चों के स्वस्थ विकास में सहायक है.

आम में मौजूद फाइबर बहुत लाभदायक है. एक शोध के मुताबिक, अगर हम 70 ग्राम आम का सेवन 4 सप्ताह तक नियमित रूप से करते हैं, तो कब्ज की तकलीफ से राहत मिलती है. आम की पत्तियों का सेवन लगातार करने से एंटी डायरल गतिविधियों में आराम मिलता है. फाइबर से भरपूर आम पेट को साफ करने, मल त्याग और चयापचय दर को बढ़ाने में मदद करता है. आम में मौजूद पाचन एंजाइम प्रोटीन को तोड़ते हैं और पचाने में सहायता करते हैं. आम में पाए जाने वाले फाइबर, एस्टर, टरपेंस जैसे बॉयोएक्टिव तत्व और एंजाइम भूख बढ़ाने और भोजन पचाने में मदद करते हैं. आम अपच, कब्ज और एसीडिटी जैसी समस्याओं को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. 

वैज्ञानिकों के अनुसार, आम को छिलके समेत खाने से मोटापे को कुछ हद तक नियंत्रित किया जा सकता है. इसके अंदर मौजूद फाइटोकैमिकल गेस्टो-प्रोटेक्टिव इफेक्ट देते हैं यानी पेट की गतिविधियों को नियंत्रित करते हैं. आम में एंटी ऑक्सिडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैैं, जिससे पाचन तंत्र स्वस्थ रहता हैै.

बीटा-कैरोटीन, विटामिन सी और जस्ते से भरपूर आम का नियमित सेवन हमारे प्रतिरोधक तंत्र को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखता है. आम खाने से शरीर में संक्रामक रोगों के खिलाफ प्रतिरोध करने की क्षमता विकसित होती है.

आम मस्तिष्क के कार्यों को सुचारु बनाए रखने और सुधारने में भी उपयोगी है. इसमें मौजूद आयरन और एंटीऑक्सिडेंट दिमाग की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है और विटामिन बी6 संज्ञानात्मक विकास या न्यूरोट्रांसमीटर में मदद करता है. याददाश्त को दुरुस्त करने में आम में मौजूद ग्लूटामाइन एसिड लाभकारी होता है. 

आम में मौजूद फाइटोकैमिकल्स त्वचा के लिए फायदेमद हैं. ये त्वचा के लचीलेपन को सामान्य करके त्वचा की र्टोंनग ठीक करते हैं. ये शरीर में खून के प्रवाह को बनाए रखते हैं और चेहरे पर उम्र बढ़ने के प्रभाव को भी रोकते हैं. 

विटामिन ए और बीटा कैरोटीन से भरपूर आम आंखों की सेहत के लिए फायदेमंद है. रोजाना आम के एक कटोरी गूदे या मध्यम आकार के एक आम से विटामिन ए की दैनिक आवश्यकता का 25 प्रतिशत मिल जाता है. इससे हमारी आंखों की रोशनी बढ़ती है. यह आंखों के रेटिना की सुरक्षा में सहायक होता है. इससे रतौंधी और आंख के सूखेपन की समस्या भी दूर होती है.

वजन बढ़ाने की चाह रखने वाले दुबले लोगों के लिए  आम वरदान है.  100 ग्राम आम में करीब 50 कैलोरी होती है. आम में मौजूद स्टार्च शुगर में बदल जाती है और वजन बढ़ाती है. मैंगो शेक इसके लिए बहुत प्रभावी है. कैलोरी से भरपूर आम का नियमित सेवन वजन  बढ़ाता है. इसका शर्बत, जूस या शेक वजन बढ़ाने में ज्यादा मदद करते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।