चश्मा एवं कॉन्टेक्ट लेंस लगाने में परेशानी होने पर लेसिक लेजर सर्जरी का प्रयोग आपके दृष्टि दोषों को दूर करने के लिए किया जाता है. वैसे तो यह तकनीक सुरक्षित एवं असरकार है, लेकिन इससे जुड़े संभावित नुकसान को भी अनदेखा नहीं किया जा सकता. जानें संभावित नुकसान एवं सावधानियां -

कम या ज्यादा नंबर निकालना - गोकुलदास अस्पताल के वरिष्ठ नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. संजय गोकुलदास के अनुसार, हम किसी मरीज का कम करेक्शन करते हैं, ताकि मरीज को माइनस नंबर की आदत के अनुसार ढाला जा सके. यह मरीज के लिए ज्यादा आरामदेह होता है. मायोपिया होने पर मरीज का कम नंबर निकाला जाता है लेकिन ज्यादा करेक्शन कभी कभार ही किया जाता है.

चकाचौंध लगना - रात में प्रकाश की तीव्रता का आभास होता है वहीं दिन में सूर्य प्रकाश की तेज रोशनी का आभास होता है. कभी-कभी सिर भारी भी हो सकता है, लेकिन यह सभी समसएं लेसिक लेजर सर्जरी के बाद कुछ ही दिनों तक होता है, बाद में सब सामान्य हो जाता है.

फ्लेप की समस्या - लेकिन प्रक्रिया के दौरान कभी-कभी पुतली के अंदर की फ्लेप में छेद हो जाने के कारण प्रक्रिया पूर्ण नहीं होती. इसके लिए 3 माह बाद पुन: सर्जरी की जाती है और पुतली के फ्लेप को उसकी सही अवस्था में लाते हैं.

कारनियल एक्टेसिया - लेसिक प्रक्रिया के लिए व्यक्ति के पुतली की समह सामान्य होनी चाहिए. कम मोटाई वाली पुतली की अवस्था लेसिक के लिए पर्याप्त नहीं होती, जिसके कारण कारनियल एक्टेसिया हो सकता है. इसकी जानकारी ऑपरेशन से पहले, पेकीमीटरी जांच से लग जाती है, इस स्थिति में ऑपरेशन नहीं किया जाता.

अन्य - पुतली में सूजन, फ्लेप का खिसकना, संक्रमण पर्दे का खिसकना, कर्नियल फ्लेप निकल जाना, इपोथोलियल इनग्रोथ आदि अन्य समस्याओं में शामिल हैं. लेकिन इनकी संभावना बहुत ही कम होती है.  

क्लासिक सर्जरी पर कितना खर्च आएगा ये इस बात पर निर्भर है की आप कौन सी टेक को यूज़ कर रहे हैं और किस हॉस्पिटल से करवा रहे हैं , अगर आप किसी सरकारी हॉस्पिटल से ये सर्जरी करवाते हैं तो आप 20000 के अंदर निपट जाएंगे, वही अगर आप किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में जाते हैं तो आपके 50000 से डेढ़ लाख तक खर्च हो सकते हैं 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।