चुनाव-चर्चा. यह पीएम मोदी की किस्मत ही है कि प्रियंका गांधी वाराणसी में संयुक्त विपक्ष की उम्मीदवार नहीं बन पाई, वरना प्रियंका गांधी के वाराणसी में चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में हुए जोरदार रोड़ शो ने यह बता दिया है कि अब वहां 2014 जैसे हालात नहीं हैं और यदि प्रियंका गांधी वाराणसी में संयुक्त विपक्ष की उम्मीदवार होती तो पीएम मोदी की जीत मुश्किल हो जाती?

वैसे, प्रियंका गांधी की उम्मीदवारी पर तो उसी दिन प्रश्नचिन्ह लग गया था, जब सपा-बसपा गठबंधन की ओर से शालिनी यादव को टिकट दिया गया. शालिनी यादव कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सांसद श्यामलाल यादव के परिवार से जुड़ी हैं और मेयर का चुनाव भी लड़कर हार चुकी हैं. 

मजेदार बात यह है कि शालिनी, प्रियंका गांधी की गंगा यात्रा के दौरान उनके साथ ही थीं, मगर जिस दिन उन्होंने कांग्रेस छोड़ कर सपा का हाथ थामा, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने उन्हें उसी दिन वाराणसी से गठबंधन का टिकट दे दिया? 

शायद! कांग्रेस सपा-बसपा गठबंधन के किसी और उम्मीदवार का भी समर्थन कर देती, लेकिन शालिनी का समर्थन करना संभव नहीं था, इसलिए कांग्रेस ने भी मजबूरी में अपना उम्मीदवार उतारा?

याद रहे, 2014 के चुनाव में नरेंद्र मोदी को कुल 5,81,022 वोट मिले थे. नरेंद्र मोदी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी अरविन्द केजरीवाल को करीब 3 लाख 77 हजार वोटों से हराया था. उस चुनाव में अरविंद केजरीवाल को 2,09,238 वोट मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी के अजय राय को 75 हजार से ज्यादा वोट, बीएसपी को 60 हजार से ज्यादा वोट, सपा को 45 हजार से ज्यादा वोट मिले थे, मतलब... संयुक्त विपक्ष की ओर से प्रियंका गांधी जैसा उम्मीदवार मैदान में होता तो नरेन्द्र मोदी के लिए तगड़ी चुनौती तैयार हो जाती? 

पीएम मोदी के रोड शो के बाद भगवा रंग में रंगी वाराणसी में कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी ने जब अपने उम्मीदवार अजय राय के लिए रोड शो किया तो किसी को उम्मीद नहीं रही होगी कि इतनी भीड़ जुट जाएगी!

प्रियंका गांधी का रोड शो भी उन सभी क्षेत्रों से गुजरा जहां से पीएम मोदी ने रोड शो करते हुए गंगा घाट पहुंच कर मां गंगा को नमन किया था. प्रियंका ने भी बाबा काशी विश्वनाथ और काल भैरव मंदिर में हाजिरी लगाई. 

रोड शो से बहुत पहले भीड़ आना शुरू हो गई थी और जैसे ही प्रियंका के आने के संकेत मिले तो पूरा क्षेत्र ‘चैकीदार चोर’ के नारों से गूंज उठा!

प्रियंका गांधी खुली गाड़ी पर सवार हुईं, तो लोग ढोल-ताशा और बैंड-बाजे की धुन पर रोड शो में उत्साहित हो कर आगे बढ़ने लगे.

खबर है कि... करीब छह किलोमीटर लंबे रोड शो में सड़क के दोनों किनारे कांग्रेस के झंडे-पोस्टरों से पटे रहे, तो लोग घरों की छतों-बरामदों में घंटों जुटे रहे और प्रियंका की झलक पाने का इंतजार करते रहे. इसी दौरान... गली-गली में शोर है, चैकीदार चोर है जैसे नारे भी गंुजते रहे!

वैसे तो पीएम मोदी को वाराणसी में हराना आसान नहीं है, लेकिन साधारण उम्मीदवार ने किसी दिग्गज नेता को चुनाव में मात दे दी, ऐसे उदाहरणों की भी कमी नहीं है?

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।