तूतीकोरिन. तमिलनाडु के मंत्री केटी राजेंद्र बालाजी ने सोमवार को विवादित बयान दिया कि ‘मक्कल नीधि मैयम' (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन के इस बयान को लेकर उनकी जीभ काट देनी चाहिए कि स्वतंत्र भारत का ‘पहला उग्रवादी हिंदू था.'

अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता बालाजी ने हिंसा के बीज बोने पर एमएनएम पर पाबंदी का भी अनुरोध किया. उन्होंने मांग की कि चुनाव आयोग हासन के खिलाफ कार्रवाई करे. दुग्ध एवं डेयरी विकास राज्यमंत्री ने यहां संवाददाताओं से कहा, उनकी जीभ काट देनी चाहिए.

उन्होंने कहा, उग्रवाद का कोई धर्म नहीं होता, न हिंदू, न मुस्लिम, न ईसाई. उन्होंने हासन पर अल्पसंख्यक वोट हासिल करने के लिए नाटक करने का आरोप लगाया. मंत्री ने कहा, आप जहर क्यों उगल रहे हैं. हासन द्वारा बोला गया हर शब्द जहर है. हिंसा के बीज बो रही हासन की पार्टी पर पाबंदी लगायी जानी चाहिए और चुनाव आयोग को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. इससे पहले, हासन ने यह बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया था कि स्वतंत्र भारत का पहला उग्रवादी हिंदू नाथूराम गोडसे था जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी.

हासन की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश भाजपा ने उन पर ‘विभाजनकारी राजनीति' करने का आरोप लगाया. भाजपा ने भारत के निर्वाचन आयोग का दरवाजा खटखटाते हुए आदर्श आचार संहिता के घोर उल्लंघन के लिए हासन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. हालांकि, कांग्रेस और दिवंगत ईवीआर पेरियार का तर्कवादी संगठन द्रविड़ कषगम एमएनएम नेता के समर्थन में आये. रविवार की रात एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए हासन ने कहा कि वह एक ऐसे स्वाभिमानी भारतीय हैं जो समानता वाला भारत चाहते हैं और जहां तिरंगे के तीन रंग बरकरार रहें. विभिन्न धर्मों के संदर्भ में उन्होंने तिरंगे के तीन रंगों का जिक्र किया. उन्होंने कहा, मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुस्लिम बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं. आजाद भारत का पहला उग्रवादी हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है. वहीं से इसकी (उग्रवाद) शुरुआत हुई.

हासन ने कहा कि उन्होंने स्वघोषित रूप से अपने आप को गांधी का पौत्र मान लिया है. महात्मा गांधी की 1948 में हुई हत्या का हवाला देते हुए हासन ने कहा कि वह उस हत्या का जवाब खोजने आये हैं. उन्होंने कहा, अच्छे भारतीय समानता चाहते हैं और चाहते हैं कि तिरंगे के तीन रंग बरकरार रहें. मैं अच्छा भारतीय हूं, गर्व से इसकी घोषणा करूंगा. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष तमिलिसाई सौंदरराजन ने कहा कि महात्मा गांधी की हत्या से पूरा देश सकते में था, कोई इसको जायज नहीं ठहरा सकता. उन्होंने कहा कि इस जघन्य अपराध के लिए गोडसे को फांसी दी गयी थी. उन्होंने कहा कि यह निंदनीय है कि हासन ने मुस्लिम बहुल इलाके में ‘हिंदू उग्रवाद' शब्द का इस्तेमाल किया. सौंदरराजन ने एक बयान में कहा, हालांकि, वह नये तरह की राजनीति करने की बात करते हैं, लेकिन वह वोट बैंक की पुरानी, चालाकी भरी, जहरीली और विभाजनकारी राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हासन का बयान ‘साम्प्रदायिक हिंसा' भड़काने के बराबर है.

श्रीलंका में ईस्टर के दिन हुए हमलों के संदर्भ में भाजपा नेता ने पूछा कि ‘यह जानते हुए कि हमले मुसलमानों ने किये हैं', क्या हासन जैसे लोगों ने उस पर टिप्पणी की. हमलों में 250 से ज्यादा लोग मारे गये थे. उन्होंने कहा कि मुस्लिम बहुल इलाके में हासन की यह टिप्पणी चालाकी भरी और एजेंडा के तहत की गयी है. भाजपा नेता ने कहा, इसलिए, ऐसे व्यक्ति के चुनाव प्रचार पर रोक लगनी चाहिए. पुलिस को इस सिलसिले में कार्रवाई करनी चाहिए क्योंकि तनाव बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है. समुदाय के चित्रण पर मुसलमानों की ओर से करोड़ों रुपये की लागत वाली फिल्म ‘विश्वरुपम' की रिलीज अटकने पर देश छोड़कर जाने की हासन की धमकी पर चुटकी लेते हुए सौंदरराजन ने कहा, यह बेहद खराब अभिनय है और अब वह देश के बारे में बात कर रहे हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।