रॉबर्ट्सगंज. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी जाति को लेकर विपक्ष द्वारा लगाये जा रहे आरोपों का जवाब देते हुए शनिवार को कहा कि देश के गरीबों की जो जाति है वही मेरी जाति है. 

मोदी ने यहां एक चुनावी सभा में विपक्षी दलों की आलोचना करते हुए कहा, अभी शुरू किया है कि मोदी की जाति कौन सी है. कान खोलकर सुन लो, मोदी की एक ही जाति है. इस देश के गरीबों की जो जाति है वही मेरी जाति है. उन्होंने कहा, जो भी खुद को गरीब मानता है मैं उसकी जाति का हूं. इसलिए जो सामान्य समाज है, जिनके गरीब बच्चों को कोई पूछने वाला नहीं था, लेकिन मेरी जाति गरीब की है, इसलिए उन गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण भी मैंने ही दिया. जिस गरीब के पास घर नहीं था, उसे घर दे दिया, क्योंकि मेरी जाति गरीब की है. मालूम हो कि विपक्ष खासकर बसपा प्रमुख मायावती ने मोदी पर राजनीतिक लाभ लेने के लिए अपनी जाति को जबरन पिछड़ी श्रेणी में शामिल कराने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कहा था कि अगर मोदी वाकई पिछड़ी जाति के होते तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उन्हें कभी प्रधानमंत्री नहीं बनने देता.

मोदी ने आरोप लगाया कि महामिलावटी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को भी खतरे में डाल देती है. याद कीजिये जब तीसरे मोर्चे की महामिलावटी सरकार थी, यही सपा मंत्रिमंडल में शामिल थी और इन्होंने देश का क्या हाल कर दिया था. हमारे खुफिया और सुरक्षा तंत्र से जुड़े कई लोगों ने इस बारे में बहुत कुछ लिखा है. आप पढ़ेंगे तो रोंगटे खड़े हो जायेंगे. उन्होंने कहा कि लिखने वाले लोगों ने बताया कि किस तरह महामिलावटी सरकार ने हमारे खुफिया तंत्र को खोखला कर दिया था. इसका खामियाजा पूरे देश को लम्बे समय तक भुगतना पड़ा था. तीसरे मोर्चे की सरकार ने उस वक्त जो कुछ किया वह किसी बड़े अपराध से जरा भी कम नहीं था. वह तो वाजपेयी जी की सरकार आयी. उन्होंने कदम उठाये और देश को बचा लिया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन दुर्भाग्य से अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार जाने के बाद देश ने फिर ऐसी कमजोर और रिमोट कंट्रोल वाली सरकार देखी, जिसने देश की साख को ही दांव पर लगा दिया. इतना भ्रष्टाचार, लाखों करोड़ों के घोटाले, हर तरफ त्राहि-त्राहि मची थी. लेकिन, कांग्रेस और उसके साथियों को इसका जरा भी मलाल नहीं है. उनके सोचने का ही तरीका है 'हुआ तो हुआ.' उन्होंने कहा, जब जनता जाग जाती है, तो हुआ तो हुआ कहने वालों को हवा हो जाओ, हवा हो जाओ कह देती है. रविवार को छठे चरण का मतदान है. भारी मात्रा में मतदान कीजिये और यह जो अहंकार है, उसे बटन दबाकर चूर-चूर कर दीजिये. मोदी ने कहा कि कमजोर सरकारों के रहते कभी देश शक्तिशाली नहीं बन सकता है. जितनी ज्यादा मजबूत सरकार, उतना ही ज्यादा शक्तिशाली देश होगा. आपका एक वोट भारत में एक शक्तिशाली सरकार का गठन करेगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन यानी 11 मई इस बात का जीता-जागता सुबूत है, जब 21 साल पहले आज ही के दिन भारत ने परमाणु परीक्षण किया था. मैं उन सभी वैज्ञानिकों को नमन करता हूं, जिन्होंने अपनी मेहनत से देश को गौरव दिलाया था. वाजपेयी सरकार से पूर्व की सरकारों में वह हिम्मत नहीं थी कि वह ऐसा फैसला ले सके. उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि जिन्होंने उत्तर प्रदेश को बरबाद किया, वे अब खुद को बरबादी से बचाने के लिए गले मिल रहे हैं. सपा-बसपा के नेता यह नहीं बताते कि राष्ट्र के लिए उनकी नीति क्या है. वह छोटी बात करते हैं, उसमें सबसे ऊपर होता है मोदी को गाली देना. मोदी ने कहा कि यह नया भारत है. यह भारत अब आतंकियों के घर में घुसकर मारता है. गुजरे पांच वर्षों में नक्सलवाद को भी हमने देश के एक बहुत छोटे हिस्से तक सीमित कर दिया है. उन्होंने कहा कि अनपरा और ओबरा में बिजली उत्पादन होने के बावजूद बिजली देने में सोनभद्र के साथ भेदभाव किया जाता था. हमारी सरकार ने इस स्थिति को बदलने का प्रयास किया है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।