कुुछ लोगों को मानना है कि जो कुंडली जन्म के समय बन गई वही कुंडली आपकी पूरी जिंदगी चलेगी या आपका जीवन उसी कुंडली के अनुसार ही चलेगा. इस जन्म में आपके हाथ में अब कुछ नहीं है. आप कुछ नहीं कर सकते हैं.

लेकिन अगर कुंडली में ही आपका भविष्य निर्धारित है तो आपको इस जन्म में कुछ करने की आवश्यकता भी नहीं है, क्योंकि आपका भाग्य तो पहले ही लिख गया है. अगर ऐसा ही सत्य है तो यहां कर्म की कोई महत्ता नहीं बची है. इसका मतलब तो है कि यह जीवन निरर्थक है.

लेकिन यह सत्य नहीं है. कुंडली जो बनती है वह आपके पूर्व जन्मों के कर्म के अनुसार बनती है. आपने अपने पूर्व जन्मों में जैसे कर्म किए होंगे उसी के अनुसार आपकी कुंडली निर्धारित की गई है. आप इस बात को इस प्रकार समझ सकते हैं कि परीक्षा तो बाद में होती है पहले साल भर बच्चे की पढ़ाई कराई जाती है उसके बाद परिणाम आता है. 

उसी प्रकार हम सभी ईश्वर के बच्चे हैं. पहले अपनी मनमानी तरीके से जिंदगी जीते हैं. जो मन में आया वह किया. अच्छा किया या बुरा किया था. लेकिन उसका परिणाम कुंडली के रूप में बाद में आता है. जिसमें आपके पूर्व जन्मों का लेखा-जोखा लिखा हुआ है. ज्योतिषी आपको पढ़ कर वही कुंडली सुना देता है.

जो आपकी कुंडली में पहले से लिख कर आया है तो वह ठीक लेकिन इस जन्म में भी आपके पास बहुत कुछ है. आप चाहे तो अपने कर्मों से ईश्वर के प्रति अपने समर्पण या अपने हठ योग से अपनी कुंडली को बदल सकते हैं. हमारी बात को आप इस प्रकार से समझ सकते हैं कि क्या आपके इंटर की परीक्षा में प्रथम वर्ष में जो रिजल्ट आया है क्या वही रिजल्ट दूसरे साल मेें भी आना निश्चित है. ऐसा तो नहीं है. आप चाहे तो मेहनत करके दूसरे साल के रिजल्ट को बेहतर अंंकों में ला सकते हैं और न चाहे तो लापरवाही करके दूसरे साल के रिजल्ट को बिगाड़ भी सकते हैं. यह कोई जरूरी नहीं इंटर परीक्षा के दोनों सालों के रिजल्ट एक समान ही आए. यह आपकी मेहनत पर निर्भर करेगा कि दोनों साल के रिजल्ट कैसे आएं. यह हर विद्यार्थी जानता है कि उसने कितनी पढ़ाई की है और कैसा रिजल्ट आएगा. पढाई नहीं करेंगे तो फेल होना निश्चित है. मेहनत से पढ़ाई करेंगे तो अच्छे अंकों से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होंगे. जब मार्कशीट अच्छी नहीं होगी तो जिंदगी में नौकरी भी अच्छी नहीं मिलेगी. तनख्वाह अच्छी नहीं मिलेगी. पद अच्छा नहीं मिलेगा. तो आप परेशान रहेंगे.

उसी प्रकार यह जिंदगी भी होती है. क्या आपको नहीं मालूम कि दूसरों को सताएंगे या किसी का हक मारेंगे तो क्या आपका भविष्य या कुंडली अच्छी बनेगी. बेईमानी से आप क्या सुखी जीवन की उम्मीद लगाते हैं! अगर आप अच्छे कर्म करेंगे, ईश्वर के प्रति आपकी श्रद्घा है, पूजन-हवन करते हैं, दान-पुण्य करते हैं तो जाहिर कि आपकी कुंडली संवरेगी.

हम यह तो नहीं कह सकते हैं कि कुंडली में लिखी बातें पूरी तरह से गलत ही साबित हो सकती हैं लेकिन अपने कर्मों से उसका असर कम या ज्यादा जरूर किया जा सकता है. अगर आपकी कुंडली में तेज धारदार हथियार से जख्मी होने का योग है तो हो सकता है आपकी सतर्कता से तलवार की जगह सुई ही लग जाए. उसी से आपका थोड़ा सा खून निकल जाए. आपकी कुुंडली में अगर वाहन से चोट खाने का योग है तो आप अगर धीम गति से और पूरी तरह से मुस्तैद होकर गाड़ी चलाएंगे तो हो सकता कि कोई एक्सीडेंट होने पर आपको ज्यादा चोट न लगे. थोड़ी ही चोट से एक्सीडेंट का योग खत्म हो जाए. आप सही सलामत बच जाएं. लेकिन अगर आपके कर्म खराब हैं तो आपको छोटे से एक्सीडेंट से भी गहरी चोट लग सकती है और आपके जीवन का अंत भी हो सकता है.

आप अपने कर्मों के प्रभाव से ग्रह के प्रभाव को तो नहीं टाल सकेंगे लेकिन उसके प्रभाव को तो जरूर कम कर सकते हैं. समय के प्रभाव को भी कम या ज्यादा किया जा सकता है. इसका परीक्षण कर स्वयं भी अनुभव किया जा सकता है. अपने अच्छे कर्मों से कुंडली संवारी जा सकती है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।