मुंबई के पास वसई की रहने वाली अमृता रजनी 4 साल पहले तक 300 किलोग्राम की थीं. रोजमर्रा के काम करना तो दूर, वह ठीक से चल भी नहीं पाती थीं. लेकिन कड़ी मेहनत और दो सर्जरी के बाद वह 4 साल में 214 किलो वजन कम कर चुकी हैं. 300 किलोग्राम से घटकर 86 किलोग्राम की हो चुकीं अमृता अब न केवल फिट दिखती हैं, बल्कि अपने सभी काम खुद कर लेती हैं और उनका जीवन अब बिलकुल बदल गया है.

ऐसा नहीं है कि अमृता का वजन किसी बीमारी की वजह से बढ़ गया था. यह सब अचानक होने लगा था. जन्म के समय सामान्य बच्चों की तरह उनका वजन तीन किलो था. छह साल के होने पर अचानक उनका वजन बढ़ने लगा और 16 साल की होते-होते उनका वजन 126 किलो हो गया था.

अमृता के बढ़ते वजन को देखकर उनके घरवालों ने उन्हें कई डॉक्टरों के पास दिखाया, लेकिन कोई भी उनका इलाज नहीं कर पाया. उनका वजन लगातार बढ़ता जा रहा था. पिछले आठ सालों से अमृता बिस्तर पर ही पड़ी रहती थी. उन्हें सांस लेने में भी दिक्कत होती थी और ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती थी.

लीलावती अस्पताल में लैपराओबेसो सेंटर के संस्थापक शशांक शाह ने वजन कम करने में अमृता की काफी मदद की. अमृता ने कहा, पिछले आठ साल से वह पूरी तरह से बेड तक सिमट कर रह गई थी. लेकिन डॉ शाह ने वजन कम करने में उनकी मदद की. इसके चलते अब वह पूरी तरह से आजाद हैं. खुद से चलती हैं. अपनी पसंद के कपड़े पहनती हैं और सामान्य जीवन का पूरा आनंद उठा रही हैं.

डॉ शाह बताते हैं कि अमृता पहली बार उनके पास 2015 में आयी थी. तमाम जांच के बाद उन्होंने उनकी सर्जरी करने का फैसला किया. उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस में सोफा लगाना पड़ा था. अस्पताल में उसके लिए खास तरह के बेड का इंतजाम किया गया. 2015 और 2017 में उनकी दो सर्जरी हुई थी. सर्जरी के बाद उनका वजन कम होने लगा और इस समय उनका वजन 86 किलो है. उन्हें अब किडनी, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज जैसी बीमारियों से भी मुक्ति मिल गई है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।