हिमाचल का किन्नौर जिला जितना अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर है उतना ही एक प्रथा की वजह के लिए भी है जिसमे एक ही लड़की से परिवार के सभी लड़कों की शादी करा दी जाती है. इस रि‍वाज को लेकर पांडवों और द्रौपदी को उदाहरण माना जाता हैं. ये प्रथा भी प्राचीन समय से चली आ रही है.

जहां पूरी दुनिया में शादी के नाम पर एक लड़का और एक लड़की साथ मिलकर अपने जीवन की नयी शुरुआत करते है , वही दूसरी और हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में आज भी दुनिया से जरा हटके बहुपति विवाह किए जाते हैं. एक ऐसा विवाह जहां रहने वाले परिवारों में महिलाओं के एक नहीं बल्कि कई पति होते हैं. ऐसा नहीं है, कि यह पति अलग-अलग परिवारों के होते है महिला के पति एक ही परिवार के घर के होते हैं. घर की एक ही छत के नीचे रहने वाले परिवार के लिए सभी भाई एक युवती से परंपरा के अनुसार शादी करते हैं और विवाहित जीवन जीते हैं.अगर किसी महिला के पति में से किसी एक पति की मृत्यु हो जाती है तो भी महिला को दुःख नहीं मानाने दिया जाता. शादी के बाद का विवाहित जीवन 'एक टोपी' पर निर्भर करता है.

आखिर क्यों किया जाता है बहुपति विवाह ?

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में शादी को लेकर यह अलग रिवाज बहुत सदियों पुराना है. यहां सभी भाई एक साथ मिलकर एक लड़की से शादी इसलिए करते हैं क्योकि ऐसा कहां जाता है, कि पांडव ही ऐसे भाई थे, जिन्होंने मिलकर एक महिला से शादी की थी. इसके बाद ऐसा कहीं और सुनने को नहीं मिला. महाभारत काल के दौरान किन्नौर जिले में पांडवों ने सर्दियों के दौरान एक गुफा में पत्नी द्रौपदी और माँ कुंती के साथ अज्ञातवास के कुछ समय बिताए थे और जिस तरह द्रोपदी ने पांच पांडवो से शादी की थी उसी तरह से इसका संबंध आज भी यहां देखने को मिलता है. इस प्रथा को यहां की भाषा में घोटुल प्रथा कहते हैं.

सभी मिलकर पूर्ण रूप से निभाते है परंपरा

मान लीजिये कि, जैसे किस परिवार में पांच भाई हैं और सभी का विवाह एक ही महिला से किया गया है. शादी के बाद अगर कोई भी भाई अपनी पत्नी के साथ कमरे में है तो वे कमरे के दरवाजे बंद कर अपनी टोपी बाहर रख देता है. भाइयों में मान मर्यादा कितनी रहती है कि जब तक टोपी कमरे के दरवाजे पर रखी है. कोई भी दूसरा भाई अंदर नहीं घुसता है. किन्नौर में विवाह की परंपरा भी अजीब ढंग से निभाई जाती है. जब किसी युवती की शादी होती है, लड़की के परिवार वाले लड़के के परिवार के बारे में पूरी जानकारी लेते हैं. विवाह में सभी भाई के दूल्हे के रुप में सम्मिलित होते हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।