असली हीरो वही हैं, जो चुनौतियों से लड़कर आगे आते हैं फिर परिस्थिति चाहे कैसी भी हो. ऐसी ही कुछ कहानी है कश्मीर की रहने वाली व्हीलचेयर बास्केटबॉल खिलाड़ी इंशाह बशीर की. 

बशीर 24 साल की हैं और जम्मू-कश्मीर की पहली महिला व्हीलचेयर बास्केटबॉल प्लेयर हैं. बशीर जब 15 साल की थी तब एक ऐक्सीडेंट में उनके स्पाइनल पर काफी गहरी चोटें आईं. कश्मीर के बडगाम जिले की रहने वाली इंशाह को सही वक्त पर इलाज नहीं मिल पाया. वे बताती हैं, 'मैं 12वीं में थी जब मेरे साथ ये हादसा हुआ. रीढ़ की हड्डी में चोट की वजह से मुझे व्हीलचेयर का सहारा लेना पड़ा. '

मुश्किल वक्त में इंशाह के साथ उनके घर वाले खड़े थे. इंशाह ने भी हार नहीं मानी, उन्हें बचपन से ही बास्केटबॉल खेलने का शौक था और से हादसा होने के बाद भी ये शौक कायम रहा. व्हीलचेयर पर आने के बाद भी इंशाह ने खेलते रहने का फैसला किया. कश्मीर में लड़कियां खेल में कम हिस्सा लेती हैं और यही वजह थी कि इंशाह को लड़कों के साथ प्रैक्टिस करनी पड़ती थी. इंशाह ने बताया कि मैंने कई लोगों को देखा जिनकी हालत मुझसे भी ज्यादा खराब थी लेकिन इसके बावजूद वो बास्केटबॉल खेल रहे थे, तो मैं क्यों नहीं खेल सकती थी.  उन लोगों ने मुझसे आग्रह किया कि मैं उनकी टीम जॉइन करूं. पहले तो मुझे लगा कि मैं ऐसा नहीं कर पाऊंगी लेकिन मैंने कर दिखाया. मुझे ये खेल पसंद है और इसे व्हीलचेयर पर खेलने में किसी तरह की दिक्कत नहीं होती.' 

इंशाह 2017 में राष्ट्रीय स्तर पर 'रेस्ट ऑफ इंडिया' में सेलेक्ट हुई थीं. संघर्ष के आठ सालों के बाद इंशाह को अमेरिका द्वारा स्पोर्ट्स विजिटर प्रोग्राम में शिरकत के लिए नॉर्थ कैरोलिना में आमंत्रित किया गया. यह उनके लिए बहुत खुशी का क्षण था. आम खिलाड़ियों की तरह इंशाह भी हर रोज जिम जाती हैं, उन्होंने कभी भी अपनी इस अक्षमता को अपनी कमजोरी नहीं बनने दिया. वो आगे चलकर भारतीय लड़कियों को स्पोर्ट्स के लिए प्रेरित करना चाहती हैं. 

साभार :india wave dot in

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।