पलपल संवाददाता, जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल अंतर्गत दमोह में सीमेंट से भरी मालगाड़ी का एक डिब्बा पटरी से उतरते हुए कई मीटर घिसटता गया, जिससे रेल ट्रेक क्षतिग्रस्त हो गया. कई घंटों की मशक्कत के बाद रेल कर्मचारियों ने वैगन को पटरी से दोबारा चढ़ाया.

बताया जाता है कि दमोह स्टेशन डीडीएसजी साइडिंग किलोमीटर संख्या डीडीएसजी 0/2 माल गाड़ी संख्या एसयूबीआर इंजन से 19वें नंबर की बोगी क्रमांक एनसीआर बीसीएनएचएल नंबर 33131253823 के आगे के चार पहिए पटरी से नीचे उत्तर गए. खंभा क्रमांक डीडीएसजी 0/4 से बोगी के 4 पहिए उतरकर स्लीपरो को डैमेज करते हुए करीबन 64 मीटर दूरी तक गिसटते हुए खंभा क्रमांक डीडीएसजी 0/2 पर आकर रुके. मौके पर एइएन, डीएमओ, एसएस, पीडब्लूआई, आईपीएफ, एसएसएफ, टीआरडी, एसआईजी, एसएसई, सीएंडडब्लू आदि के अधिकारी, स्टाफ सहित मौके पर पहुंच गए थे. मालगाड़ी चालक मनोज कुमार व गार्ड राहुल तिवारी थे.

अधिकारियों का कहना है कि गाड़ी के पहिए पटरी से कैसे उतरे इसकी जांच की जा रही है. गाड़ी में सीमेंट इमलाई फैक्ट्री से लोड किया गया था. इधर पटरी से उतरी इस गाड़ी के बोगी को कर्मचारियों ने दोबारा करीब 7 बजे पटरी पर खड़ा कर दिया था. विदित हो कि दमोह रेलवे स्टेशन के समीप से इमलाई सीमेंट फैक्ट्री के लिए रेलवे ट्रेक निकला है, जिस पर फैक्ट्री तक पहुंचने वालीं मालगाडिय़ां ही निकलतीं हैं. इस ट्रेक का सामान्य रेल परिवहन से संबंध नहीं रहता है, जिसकी वजह से किसी प्रकार का आवागमन प्रभावित नहीं हुआ.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।