नई दिल्ली. फीफा जूनियर वर्ल्ड कप का सफलता पूर्वक आयोजन करने के बाद अब भारत 2026 के फीफा वर्ल्डकप का आयोजक बन कर इतिहास रचने के कगार पर है.  शनिवार को  फीफा के प्रेसिडेंट जियानी इनफैनटिनो ने जैसे ही भारत को स्थाई प्रतिनिधि का प्रमाणपत्र सौंपा तो वैसे ही खेल पंडितों ने ऐलान कर दिया कि 2022 के बाद अगले फीफा वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत को मिल सकती है. हालांकि भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है लेकिन सबसे ज्यादा लोकप्रिय खेल क्रिकेट है. अब माना जा रहा है कि फीफा की मेजबानी मिल जाने से भारत में फुटबॉल की लोकप्रियता में भी क्रिकेट की तरह बढ़ोतरी हो सकती है.

भारत का क्रिकेट संघ बीसीसीआई दुनिया का सबसे धनी संघ है. इसलिए कुछ साल पहले बीसीसीआई और क्रिकेट खिलाड़ियों के अलावा बॉलीवुड और उद्योग जगत की हस्तियों ने फुटबॉल, हॉकी और कबड्डी जैसे खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए लीग मैचेज़ की फ्रैंचाइजी लेना शुरु किया. खास तौर से फुटबॉल को प्रोत्साहित करने के लिए इंडियन सुपरलीग की शुरुआत की. इस समय इस लीग में भारत के दस बड़े क्लबों की टीम हिस्सा ले रही हैं. इन टीमों के कोच भी विदेशी हैं और लीग में हिस्सा लेने के लिए दुनिया के नामी-गिरामी फुटबॉलर भी हिस्सा लेते हैं. यही कारण है कि पिचले कुछ वर्षों में  भारत में फुटबॉल खेल सुविधाओं और खिलाड़ियों के स्तर में प्रशंसनीय सुधार हुआ है. 

फीफा में स्थाई प्रतिनिधि का प्रमाण पत्र कुआलालंपुर में ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल प्राप्त किया. उन्होंने कुआलालंपुर एशियन फुटबॉल कन्फेडरेशन को भी संबोधित किया. 2026 के फीफा कप के आयोजन की संभावनाओं के साथ ही भारत के फुटबॉल प्रेमियों केलिए यह भी खुशखबरी है कि फीफा रैंकिंग में भारत को एक दिन पहले ही दो अंकों की बढ़त हासिल हुई है.

हालांकि खेल प्रेमियों का कहना है कि फीफा का जूनियर विश्वकप करवाने के बावजूद लोगों में फुटबॉल के प्रति तो क्रेज होना चाहिए वो अभी तक देखने को नहीं मिला है. भारत में क्रिकेट वर्ल्डकप काफी बाद में हुआ था लेकिन 70 के दशक से पहले से ही भारत में क्रिकेट को लेकर दीवानगी चरम पर थी. यह वो जमाना था जब कंप्यूटर-टीवी तो दूर लोगों के पास रेडियो ट्रांजिस्टर भी नहीं होते थे. शहर-कस्बों में गली के नुक्कड़ पर पान के खोखे और बाजारों चाय की दूकानों पर क्रिकेट की कमेंटरी सुनने के लिए लोगों की भीड़ जमा रहती थी. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।