चुनावार्थ. तमिलनाडु में एआईएडीएमके का सियासी भविष्य क्या है? इस सवाल का जवाब लोकसभा चुनाव के बाद ही मिल पाएगा, कारण? एआईएडीएमके गठबंधन के जिस रास्ते पर चल पड़ी है, यदि उसमें कामयाबी नहीं मिली तो पहले से ही कई गुटों में बंटी एआईएडीएमके को एक रखना मुश्किल हो जाएगा. 

दरअसल, एआईएडीएमके पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के कारण एकजुट थी और सत्ता में भी थी, परन्तु उनके गुजरने के बाद कई गुट बन गए, यही नहीं, जयललिता के समर्थक भी अलग-अलग गुटों के साथ हो गए. अब, जब तक कि कोई नया चमत्कारी नेतृत्व उभरता नहीं है, एआईएडीएमके को एकजुट रखना आसान नहीं है.

इस रिक्त स्थान को देख कर ही पीएम नरेन्द्र मोदी ने तमिलनाडु में एआईएडीएमके को एकजुट रखने की कोशिशों के साथ-साथ बीजेपी के लिए भी संभावनाएं तलाशी हैं, जिसके नतीजे में वहां एआईएडीएमके-बीजेपी गठबंधन हो पाया है, लेकिन यदि यह गठबंधन चुनाव में कामयाब नहीं रहा तो एआईएडीएमके को आगे के लिए एकजुट रखना संभव नहीं होगा और एआईएडीएमके के सियासी भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लग जाएगा?  

कुछ ऐसा ही सियासी नजरिया कांग्रेस के वरिष्ठ मंत्री और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने भी रखा है कि- अगर इस बार के चुनाव में बीजेपी की हार होती है तो फिर तमिलनाडु में एआईएडीएमके टूट जाएगी. 

खबर है कि उन्होंने कहा कि- अगर केंद्र में भाजपा हारती है तो तमिलनाडु में सत्ताधारी पार्टी अन्नाद्रमुक टूट जाएगी. तमिलनाडु और पुडुचेरी को मिलाकर लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं, जहां बीजेपी और पीएमके के हिस्से में आई 12 सीटों के बाद शेष सीटों पर एआईएडीएमके और डीएमडीके के बीच सीधा मुकाबला है.

सबसे बड़ी परेशानी यह है कि बीजेपी के पास दक्षिण भारत में कोई चमत्कारी नेता है नहीं, बीजेपी ने रजनीकांत में दिलचस्पी दिखाई थी, किन्तु रजनीकांत ने- ठहरो और देखों की तर्ज पर अभी चुनावी मैदान से बाहर रहने की बात कही है, लिहाजा इस वक्त बीजेपी की दक्षिण भारत में सफलता पर सवालिया निशान है.

देखना दिलचस्प होगा कि एआईएडीएमके कब तक एकजुट रह पाती है? और बीजेपी को कितनी कामयाबी मिलती है?

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।