एस्ट्रो पॉलिटिकल एनालिसिस: सनातन ज्योतिष शास्त्र एक प्रकार से ईश्वरप्रदत्त एक संकेतक है जिससे हम भविष्य जुड़ी घटनाओं का अंदाज़ लगा सकते है,ये बात अलग है की अपनी मर्जी के अनुसार लोग इसका अर्थ निकाल लेते है,दर्पण मॆ जैसा आपका चेहरा है वैसा ही दिखेगा ऐसा कोई दर्पण नही जो आपकी शक्ल बदल दे,वो तो तभी बदलेंगे जब आपके कर्म बदलना है,आगामी लोकसभा चुनाव के समय आकाश मॆ जो ग्रहस्थिति होगी वैसे ही चुनाव के परिणाम आयेंगे.

बदल चुकी है ग्रह स्थिति-जब से चुनाव आयोग ने चुनाव तारीखों की घोषणा की है तबसे ग्रह स्थिति बदल चुकी है,अब वो स्थिति भी नही है जिसमें कांग्रेस ने तीन राज्यों को चुनाव जीता था,इसीलिये ये अनुमान लगाना की लोकसभा चुनाव के परिणाम वैसे ही आयेंगे जैसे तीन राज्यों के आये वह गलत होगा.

ये ग्रह बदल गये -7मार्च से राहु केतु अपनी उच्च राशि मिथुन और धनु मॆ आ गये,30 मार्च से 22अप्रेल के मध्य गुरु भी अतीचारी होकर धनु राशि मॆ रहेगा जिस समय चुनाव के कुछ चरण सम्पन्न हो जायेंगे यह परिवर्तन मोदी सरकार के लिये फायदेमंद रहेगा,इन ग्रहों ने आने के पहले ही देश की राजनीति की दिशा बदल दी  है एयरस्ट्राइक के बाद राजनीति राष्ट्रवाद और आतंकवाद पर केंद्रित हो गई जिससे राजनीति बदल गई पाकिस्तान मॆ एयर स्ट्राइक के बाद मोदी सरकार का मनोबल बड़ा है,इसके अलावा अंतरिक्ष के क्षेत्र भारत का चौथी बड़ी सकती बनना भी उनके लिये फायदेमंद है,महागठबंधन की फजीहत भी इन ग्रहों के बदलने से हुई,आइये देखते है राहु केतु और गुरु के बदलने से दोनो गठबंधनों की स्थिति

भाजपा-भाजपा की नाम राशि धनु है,साढ़ेसाती का मध्यकाल चल रहा है साथ ही कर्क राशि का राहु आठवें स्थान मॆ इस पार्टी के लिये काफी संकट उत्पन्न कर उत्पन्न कर रहा है,यूं कह सकते है की भाजपा के लिये पिछला डेढ़ वर्ष भयानक कष्टकारी रहा है राफेल मामले मॆ मोदी पर आरोप और तीन राज्यों मॆ पराजय इसका ही परिणाम रहा है,7 मार्च से ग्रह स्थिति बदल चुकी है 22 अप्रेल तक धनु राशि मॆ गुरु शनि केतु का एक साथ इस राशि मॆ आना भाजपा के फायदेमंद स्थिति रहेगी जो एक बार फिरसे मोदी सरकार बनाने मॆ सहायक होगी.

राजग-भारतीयजनता पार्टी नीत इस गठबंधन की तुला राशि है,7 मार्च से राहु का उच्च राशि मॆ भाग्य मॆ आना तथा गुरु केतु का  पराक्रम भाव मॆ आना इस गठबंधन को विशेष शक्ति देगा,बदली हुई स्थिति मॆ यह गठबंधन एक बार फिरसे सत्तारूढ़ होने की ओर अग्रसर है.

कांग्रेस-मिथुन राशि की इस पार्टी के लिये मिथुन का राहु शुभ परिणाम देगा,पार्टी अच्छा प्रदर्शन करेगी,भाग्य का स्वामी शनि और लग्न का राहु इस पार्टी को अच्छा सहयोग करेगा,यदि यह पार्टी अपने दम पर ही चुनाव लड़ती है तो फायदे मॆ रहेगी.

यूपीए-वृषभ राषि वाले इस गठबंधन को शनि का अडैया चल रहा है,7 मार्च से आठवां केतु और अडैया शनि  इनके लिये मुशकिले पैदा करेगा,लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इस गठबंधन के लिये समय ठीक नही है,भाग्य साथ नही देगा,आपसी कलह और अहंकार जनता के बीच नकारात्मक छवि बनायेगा,वही लोकतंत्र के परम कारक शनिदेव की अशुभ स्थिति राजग के लिये हानिकारक रहेगी.

विभिन्न गठबंधनों के प्रमुख नेताओ के लिये की ग्रह स्थिति

प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी -मोदी जी के लिये गुरु शनि और केतु की स्थिति अत्यंत लाभप्रद है,राहु का भ्रमण थोड़ा हानिकारक है जो उनके खिलाफ दुष्प्रचार के रुप मॆ कार्य करेगा,फ़िर भी भाग्येश चंद्र की दशा और गुरु केतु शनि की अनुकूल स्थिति नरेंद्र मोदी को पुनः सत्तारूढ़ करेगी.

अमित शाह-2014 के लोकसभा चुनाव मॆ अमित शाह की रणनीति के सहारे ही भाजपा पूर्ण बहुमत प्राप्त कर सत्ता प्राप्त कर सकी थी,आगामी लोकसभा चुनाव के सापेक्ष अमित शाह की कुंडली मॆ राहु पराक्रम स्थान मॆ उच्च राशि मॆ भ्रमण करेगा,इसके अलावा गुरु केतु शनि की भाग्य भाव मॆ अनुकूल स्थिति भाजपा को पुनः मजबूत स्थिति मॆ लायेंगीशाह' की कुंडली मॆ मिथुन राशि का पराक्रम स्थान मॆ ही पड़ा है,जो निश्चित रुप से इनके लिये फायदेमंद होगा.

राहुल गांधी-राहुल गांधी की पत्रिका मॆ मिथुन राशि के राहु और धनु राशि के केतु का भ्रमण उनके चंद्र तथा सूर्य के ऊपर से होगा,राजीव गांधी की मौत के समय भी राहु केतु का यही भ्रमण था,वर्तमान का राहु केतु का भ्रमण राहुल की आयु मान प्रतिष्ठा तथा राजनीति के लिये हानिकारक होगा,उन्हे सम्भलकर चलने की आवश्यकता है.

अखिलेश यादव-इनका हाल भी राहुल जैसा ही है दशा अत्यंत प्रतिकूल है सूर्य से राहु का भ्रमण खुद की राजनीति,पिता तथा पार्टी के लिये ठीक नही,केतु की दशा अत्यंत प्रतिकूल है,बुआ से गठबंधन का उनका दांव उनके लिये हानिकरक होगा.

बुआ मायावती-मायावती जी की सूर्य और चंद्र राशि मकर है जिसपर से आगामी 2020 मॆ शनि महाराज का भ्रमण होने वाला है,जो निश्चित रुप से इनके लिये कष्टकारी होनेवाला है यह देखते हुए लगता है की सपा से गठबंधन का उनका दांव मनमुताबिक रुप से सही नही बैठेगा.

ममता बनर्जी-ममता बनर्जी इस समय शनि की महादशा के अंतिम चरण मॆ है,जो सभी के लिये कष्टदायीं होता है ममता बनर्जी जो सपने देख रही है वो पूरे सही होंगे इसमे सन्देह है.

निष्कर्ष-राहु केतु का भ्रमण राहुल,अखिलेश,मायावती के लिये कष्टकारी तथा अमितशाह मोदी के लिये लाभकारी है देखिये आगे ऊँट किस करवट बैठता है.

पं.चंद्रशेखर नेमा हिमांशु

9893280184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।