आपने अपने जीवन में कई शादियां देखी होंगी. लेकिन जिस शादी के बारे में हम आपको बताने जा उस तरह की अनोखी शादी के बारे में आपने शायद ही सुना होगा. इस शादी में बिना कोई मुहूर्त तय किए दूल्हा-दुल्हन से सात फेरे लिए. इस शादी की अनोखी बात यह भी थी कि इसमें दुल्हनें घोड़ी चढ़ कर आई और दूल्हों ने मंगलसूत्र पहना. हालांकि, ऐसा इन लोगों ने समाज में लैंगिक समानता (Gender equality) का संदेश देने के लिए किया. कन्यादान की रस्म के बिना हुई शादी यह मामला विजयापुर जिले के मुद्देबिहल से सामने आया. यहां के दुद्दागी और बारागुंडी परिवारों ने नालाटावाडा गांव के हल्लुर पैलेस में सोमवार को इस विवाह समारोह का आयोजन किया था. इस शादी में दूल्हे हालुमठ समुदाय से थे और दुलहनें बानाजिगा समुदाय कीं थीं.

इस अंतरजातीय (Inter Cast) सामूहिक विवाह समारोह में कन्यादान, मुहूर्त और अक्षत (चावल के रंगीन दानों) से नव दंपत्ति को शुभकामनाएं देने की भी कोई परंपराएं (Traditions) भी बदली गईं. जैसे ही दूल्हों ने दुलहनों के मंगलसूत्र बांधा वैसे ही दुलहनों ने भी दूल्हों के गले में मंगलसूत्र डाल दिया. शादी समारोह में इलाकल गुरु महंतेश स्वामी, लिंगसागुर विजय महंतेश मठ सिद्धलिंग स्वामी, गुलेदागुड्डा बासवराज देवारु, महंत तीर्थ सीर, सती मठ के बासवलिंग स्वामी और मदारा चेन्नैया गुरु पीठ के बासवमूर्ति मौजूद थे. बासवमूर्ति सरनारु ने कहा, ‘धर्म व जाति के पीछे भागने वालों को इस शादी से सीख लेनी चाहिए. ये विवाह समानता प्रधान हैं, यहां वर और वधु दोनों एक दूसरे को मंगलसूत्र बांधते हैं. कन्यादान की प्रथा समाप्त करना एक तरह से पितृसत्तात्मक समाज को नकारना है.’

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।