स्मार्टफोन्स खरीदते वक्त यूजर्स उसके फीचर्स और हार्डवेयर पर तो ध्यान देते हैं, लेकिन शायद ही उससे निकलने वाले रेडिएशन को चेक करने पर किसी का ध्यान जाता है. जरूरी है कि आप स्मार्टफोन खरीदने के साथ ही उसकी आफ्टर-सेल्स सर्विस, रीसेल वैल्यू और रेडिएशन लेवल भी पता करें. इसपर पहले भी चर्चा हो चुकी है कि स्मार्टफोन्स से निकलने वाला रेडिएशन खतरनाक हो सकता है और कई बीमारियों का कारण बन सकता है. हम आपको बताते हैं कि फोन का रेडिएशन कैसे चेक किया जा सकता है.

किसी भी स्मार्टफोन से निकलने वाला रेडिएशन ऐसा फैक्ट है, जिसके बारे में लोगों को सबसे कम जानकारी होती है. रेडिएशन या Specific Absorption Rate (SAR) वैल्यू स्मार्टफोन से ट्रांसमिट होने वाली वह रेडियो फ्रीक्वेंसी होती है, जो थोड़ा रेडिएशन पैदा करती है. ज्यादा वक्त तक लगातार रेडिएशन के असर में रहना स्वास्थ्य पर असर डाल सकता है. अच्छी बात यह है कि डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्युनिकेशन (DoT) ने इसकी एक लिमिट 1.6 W/kg तय कर रखी है.

कई स्मार्टफोन ब्रैंड्स SAR रेटिंग को डिवाइस के बॉक्स में आने वाले यूजर्स मैनुअल या बॉक्स के ऊपर मेंशन करते हैं. वहीं कई स्मार्टफोन मेकर्स ने यह वैल्यू अपनी वेबसाइट पर ही दे रखी है. स्मार्टफोन हाथ में हो तो उसकी SAR वैल्यू चेक करने का एक आसान तरीका भी है. हम आपको बताते हैं कि किस तरह केवल तीन स्टेप्स में आप अपने फोन से निकलने वाला रेडिएशन चेक कर सकते हैं:

स्टेप 1 - अपना फोन के डायल पैड पर *#07# टाइप करें.

स्टेप 2 - स्मार्टफोन स्क्रीन पर आपको SAR Ratig दिखाई पड़ेगी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।