नयी दिल्ली. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्हें हाल में कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव में प्रतिकूल परिणामों से मनोबल गिराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि विरोधी जीते जरूर हैं, लेकिन भाजपा हारी नहीं है. भाजपा की राष्ट्रीय परिषद के अधिवेशन में दूसरे दिन अपने संबोधन में यह बात कही.

उन्होंने कहा कि भाजपा ने इन राज्यों में अपनी जमीन नहीं खोयी है, जबकि उत्तरप्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल में कांग्रेस की कोई जमीन नहीं है. शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि 2019 एक मौका है जब एक मजबूत सरकार बनाने की नींव डाल सकते हैं. शाह ने शनिवार को एक बार फिर जोर दे कर कहा कि देश की सुरक्षा, विकास और गौरव के लिए 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का जीतना जरूरी है और इसके लिए चाहे जितने दल एकजुट होना चाहें, एकजुट हो जाये, भाजपा जीत दर्ज करेगी. शाह ने कहा कि भाजपा मुकाबले को तैयार है और 2019 में विजय प्राप्त करनी ही है.

अमित शाह ने दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा, सत्ता और स्वार्थ के गठजोड़ में जितने लोग इकट्ठा होना चाहते हैं वो एक साथ आ जायें, भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मोदी जी के नेतृत्व में 50% (मत प्रतिशत) तक की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि देशभर में छोटी-छोटी पार्टियों ने भाजपा का साथ देने का फैसला किया है. उन्होंने कहा, हमने सभी दलों को एकत्रित किया है. ये सभी नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के विकास यज्ञ में समिधा डालने को तैयार हैं. शाह ने कहा कि यहां से जाने के बाद हम सभी के लिए एक ही मंत्र है कि 2019 में भाजपा को विजयी बनायें और नरेंद्र मोदी को फिर से प्रचंड बहुमत के साथ प्रधानमंत्री बनायें.

भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण जैसे तीनों नासूर भारतीय राजनीति में कांग्रेस की देन हैं. उन्होंने कहा कि 2014 के बाद से प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हम देश को इन तीनों नासूरों से मुक्त करने की दिशा में आगे बढ़े हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को एक-एक वोटर के साथ मिलकर जनसंपर्क का कार्य करना हैझ. शाह ने कहा कि 2019 में अगर हम प्रचंड बहुमत से जीतते हैं तब 2019 के बाद लंबे समय तक पंचायत से संसद तक हम बने रहेंगे. उत्तरप्रदेश में सपा और बसपा समेत विपक्षी दलों के साथ आने के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यह गठबंधन सत्ता और स्वार्थ का गठबंधन है. एक बार तो मुकाबला होना ही था. ऐसे में भाजपा को विजय प्राप्त करनी ही है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।