वार्षिक राशिफल 2019: मिथुन

(का,की,कू,घ,छ,के,को ह)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि सप्तम भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो परिवार तथा व्यापार   मॆ आनेवाले परिवर्तन की ओर  ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः लग्न तथा सप्तम  भाव मॆ आकर व्यापारिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,प्रथम भाव का राहु मान सम्मान मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही सप्तम स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,छठे स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ  होने वाली परेशानियों  की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा. परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं. अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है. घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है. कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है.

*महिलाओं के लिये

यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है. मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे. यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी. घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी. किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग. इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी.

*व्यापारी वर्ग

 इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के लोगो  को साझीदारी से सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी. आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए.

*कर्मचारी वर्ग

इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है. कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा.

*विद्यार्थी वर्ग

प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, गुरु की छठे भाव मॆ उपस्थिति आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता  प्राप्ति के योग बनेंगे,इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो अन्यथा परिणाम प्रतिकूल हो एकाग्रचित्त रहें. सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी.

*स्वास्थ्य

इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, उदर विकार खानपान से जुड़ी समस्या का सामना करना होगा आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा,सप्तम  भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द 

से जुड़ी  बीमारियों दे सकता है,शनि की चतुर्थ भाव मॆ दृष्टि हृदयजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा. यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा.

*वास्तु और दिशा

इस राशि के लिये पूर्व दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष शनि की लग्न, भाग्य तथा चतुर्थ भाव मॆ दृष्टि आपको पश्चिम दिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये.

*रत्न सलाह*-पन्ना, गोमेध और नीलम आपके लिए भाग्यवर्धक रत्न है, महिलाए सफेद पुखराज भी पहन सकती है. 

*प्रेम प्रसंग

-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित  होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा,लेकिन वैवाहिक सम्बंधों मॆ दिक्कत और परेशानी हो सकती है, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है.

*पूजा पाठ, इष्ट आराधना

आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महाकाली है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे. शनि के अष्टम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये. भगवान भैरवनाथ तथा  शनिदेव की  पूजा आपको विशेष लाभ देंगी. शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा.

*जनवरी- जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ समय व्यतीत होगा,गुप्त कार्य होगा, सफलता प्राप्ति के योग.

*फरवरी- राज्यपक्ष से भाग्यवर्धक यात्रा का योग, सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें.

*मार्च- राज्य से मान सम्मान और प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,अधिकार और प्रभुत्व मॆ वृद्धि का योग,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी.

*अप्रैल -मान सम्मान प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,व्यापार मॆ लाभ होगा,मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है.

*मई- व्यर्थ की यात्रा से दूर रहें,इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है.

*जून - व्यापारिक क्षेत्र मॆ दिक्कतों को योग,अपयश और बदनामी हो सकती है,सावधान रहे,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग.

*जुलाई - समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें,दुर्घटना से बचे और स्वास्थय का  ध्यान रखे.

*अगस्त- इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग.

*सितम्बर -इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,खिलाड़ी,व्यापारी वर्ग के लिये श्रेष्ठ समय.

*अक्टूबर - मानसिक शांति ज्यादा महत्वपूर्ण है समय और परिस्थिति के अनुसार धैर्य रखेंगे तो अच्छा महसूस करेंगे,यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे.

नवम्बर - आर्थिक लाभ मॆ वृद्धि होगी,धन आगमन होगा,व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग.

*दिसम्बर- रोग,ऋण,शत्रु पस्त होंगे,पराक्रम मॆ वृद्धि होगी,जीवनसाथी और साझीदार का ध्यान रखे,कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन

वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग.

संपर्क : 9893280184, 7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।