शनि राहु और केतु ये तीनो ऐसे ग्रह है जब इनका भ्रमण जिन राशियों पर होता है या जिनराशियों के ये चौथे आठवें बारहवें होते है उन राशियों को बेन्ड बज जाती है,व्यर्थ के आरोप

कोर्ट कचहरी अस्पताल के चक्कर भी इनके प्रभाव से ही होते है,वर्तमान मॆ राहु केतु और शनिदेव क्रमशःकर्क,मकर और धनु राशि मॆ है,राहु और केतु महाराज मार्च प्रथम सप्ताह से अपनी राशि बदलकर क्रमशः मिथुन और धनु मॆ जाने वाले है जो की इनकी उच्च राशि है,शनि महाराज जनवरी 20 मॆ अपनी राशि बदलेंगे,लेकिन फ़िर भी राहु केतु के राशि बदलने से बहुत राशियों का जीवन बदलेगा आइये देखते हैं-

*राहु और केतु ये दो घूर्णन केन्द्र है जिन पर पृथ्वी घूमती है,ये दो ग्रह सूर्य और चंद्र को ग्रहण भी लगाते है.

*मिथुन राशि मॆ उच्च राशि का राहु संचार क्षेत्र परिवहन आवागमन,विदेश सम्बंधी कार्यों मॆ बड़ी क्रान्ति के संकेत दे रहा है,नये आविष्कारों से आमजन जीवन मॆ क्रंतिकारी परिवर्तन देखने को मिलेंगे.

*उच्च राशि का केतु आकाशीय क्षेत्र मॆ बड़ी जीत को दर्शा रहा है,धनु राशि का ये केतु आकाश,शिक्षा,युवा वर्ग तथा विश्व मॆ किसी बड़े अलगाव और समाधान की और संकेत कर रहा है,विश्व मॆ कई जगह निर्णायक युध्द व कार्य होंगे.

*भारत के लिये यह समय अत्यंत अनुकूल रहेगा,उसे कई मोर्चों पर सफलता मिलेगी,विश्व मॆ भारत के नाम का डंका बजेगा,कई क्षेत्रों मॆ भारत आगे आयेगा.

*पाकिस्तान के लिये अत्यंत प्रतिकूल समय इस अवधि मॆ पाकिस्तान मॆ कई जगह अलगाव भी हो सकत है.

*इस अवधि मॆ राममंदिर निर्माण का कार्य प्रारम्भ हो सकता है.

*मेष*

-इस राशि के पराक्रम भाव से राहु और भाग्य भाव से केतु का भ्रमण होने वाला है जो इनके लिये अत्यंत अनुकूल रहेगा,भाग्य मॆ बैठा शनि केतु के साथ कर्मक्षेत्र मॆ बेहतरीन सम्भावना को जन्म देगा,पराक्रम का राहु हिम्मत और साहस मॆ वृद्धि करेगा,कुल मिलाकर आपके लिये 2019 शानदार परिणाम देगा.

*वृषभ*

-राहु महाराज का दूसरे भाव से भ्रमण तथा केतु का आठवें स्थान से भ्रमण आपके लिये मिश्रित सफलता का कारण बनेगा,दूसरा राहु आकस्मिक रुप से धन देगा लेकिन आठवां शनि और केतु किसी आकस्मिक संकट का संकेत कर्मक्षेत्र मॆ गड़बड़ी का संकेत दे रहा है,उदररोग और घुटनो की तकलीफ से बचें,संतानपक्ष का ध्यान रखें.

*मिथुन*

-इस राशि के लिये लग्न मॆ राहु उच्च राशि मॆ आयेगा,जो आपके व्यक्तित्व मॆ चार चांद लगायेगा,सप्तम भाव मॆ केतु और शनि का भ्रमण व्यापार नौकरी मॆ शुभ परिवर्तन का संकेत दे रहा है,2019 इस राशि के लिये अनुकुल रहेगा.

*कर्क*-

इस राशि के लिये राहु का भ्रमण व्यय भाव तथा केतु का भ्रमण छठे स्थान से होगा,खुद के स्वास्थय के प्रति विशेष ध्यान देना होगा,रोग बीमारी कोर्ट कचहरी से लाभ प्राप्ति के योग बनेंगे.

*सिंह

*-इस राशि के लिये लाभ और पंचम भाव से राहू केतु का भ्रमण आपके आर्थिक लाभ के अत्यंत अनुकुल होगा,संतान शिक्षा तथा किसी विशेष निर्णय से लाभ का योग.

*कन्या*

-इस राशि के लिये राहु और केतु का भ्रमण क्रमशः राज्य और चतुर्थ भाव से होगा,राहु का राज्य से भ्रमण किसी नये कार्य के शुरुआत कर्मक्षेत्र मॆ आकस्मिक उन्नति के संकेत देता है वही चौथे स्थान से शनि और केतु का भ्रमण 

स्थान मकान वाहन आदि के परिवर्तन की ओर संकेत कर रहा है.

*तुला

*-इस राशि के लिये राहु केतु का भ्रमण क्रमशः भाग्य और पराक्रम भाव से होगा,राहु महाराज का भाग्य से भ्रमण विदेश या बाहरी सम्बंध और यात्रा से भाग्यवृद्धि के संकेत दे रहा है वही पराक्रम भाव से शनिकेतु का भ्रमण आपके कार्यों मॆ आपकी विजय और सफलता को दर्शा रहा है,खिलाड़ी,सेना, पुलिस और जोखिम भरे कार्य करने वालो के लिये महत्वपूर्ण सफलता का समय.

*वृश्चिक*

-इस राशि के लिये राहु का भ्रमण आठवें स्थान तथा केतु का भ्रमण दूसरे स्थान से होगा,आठवां राहु इनके लिये .किसी खतरे और परेशानी का संकेत कर रहा है,शेयर,सट्टा,तेजी

मंदी की लाइन से दूर ही रहे,दूसरा केतु भी धनहानि के संकेत दे रहा है इसीलिये निवेश आदि से दूर ही रहे,खानपान मॆ सावधानी रखे,संतान पर निवेश न करें.

*धनु*

-लग्न मॆ केतु तथा सप्तम भाव मॆ राहु का भ्रमण व्यक्तित्व मॆ सफलताओं कर्मक्षेत्र मॆ जीत मानवृध्दि की ओर संकेत कर रहा है वही सप्तम भाव का राहु व्यापार मॆ परिवर्तन वैवाहिक जीवन के शुरुआत की ओर संकेत कर रहा है,इस राशि के लिये शुभ समय की शुरुआत.

*मकर*

-इस राशि के लिये छठा राहु रोग ऋण शत्रु कर्ज के खात्मे की ओर संकेत कर रहा है वही व्यय भाव से केतु के साथ शनि का भ्रमण विदेश यात्रा स्वास्थय के लिये विदेश यात्रा मॆ खर्च आदि के संकेत दे रहा है,कोर्ट अस्पताल के कार्यों मॆ सफलताओं के संकेत.

*कुम्भ*

-इस राशि के लिये लाभ भाव से केतु तथा पंचम भाव से राहु का भ्रमण चल होगा जो की आर्थिक लाभ मॆ अचानक उन्नति संतान पक्ष मित्रों की ओर से लाभ प्राप्ति के संकेत दे रहा है वही लाभ भाव मॆ शनि केतु व्यक्तित्व मॆ विजेता होने के संकेत दे रहा है.

*इस राशि के लिये चतुर्थ और राज्यस्थान से राहु और केतु का भ्रमण होगा,चौथे स्थान का राहु मकान भवन  जन्मस्थान से दूर उन्नति की दर्शाता है वही राज्य स्थान मॆ केतु अचानक कर्मक्षेत्र मॆ आपकी उन्नति को दर्शाता है.

*विशेष*-जिनकी कुंडली मॆ राहु और केतु क्रमशः मिथुन राशि और धनु राशि के है तथा उनकी कुंडली मॆ भी राहु केतु की दशा चल रही हो उन्हे अपनी राशि के अनुसार विशेष परिणाम प्राप्त होंगे.

*प.चंद्रशेखर नेमा "हिमांशु"*

9893280184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।